जागरण संवाददाता, संगरूर

पंजाब में आम आदमी पार्टी द्वारा क्रैशर इंडस्ट्री के लिए पालिसी, रेत के साथ ही बजरी की कीमत तय करने सहित अन्य मुद्दों पर विचार करने के लिए शिरोमणि अकाली दल के सीनियर नेता व हलका इंचार्ज संगरूर विरनजीत सिंह गोल्डी पत्रकारों से बातचीत करते हुए दावा किया कि पंजाब सरकार द्वारा बनाई गई खनन पालिसी झूठ का पुलिदा है। शिरोमणि अकाली दल की सरकार के समय पंजाब के लोगों को बेहद कम कीमत पर रेत व बजरी उपलब्ध होती थी।

पंजाब सरकार की खनन पालिसी से पंजाब का प्रत्येक वर्ग घर बनाने से असमर्थ हो जाएगा। पालिसी के मुताबिक लोगों को 45 रुपये फीट के हिसाब से रेत मिलेगी। ऐसे में यह पालिसी पंजाब के लोगों की जेब पर डाका है। सरकार द्वारा राज्य का कर्जा वापस करने का दावा भी बेबुनियाद है। कर्जा लेकर कर्जा वापस करना कितना जायज है, सरकार कर्ज वापस करने पर झूठ बोल रही है। राज्य के पीआरटीसी के पेंशनरों व अन्य मुलाजिमों को पांच माह से वेतन नहीं मिला। सरकार उनका वेतन रोककर कर्ज वापस करने की दलील दे रही है, जो केवल झूठ व बेबुनियाद है।

दिल्ली के शिक्षा माडल पर सवाल करते कहा कि दिल्ली सरकार ने दो छात्रों को बीस लाख रुपये की स्कालरशिप दी थी जबकि स्कालरशिप के प्रचार के लिए सरकार ने करोड़ो रुपये खर्च किए हैं जिससे दिल्ली शिक्षा माडल की पोल खुलती है। विनरजीत गोल्डी ने कहा कि सरकार लोगों को बताए कि कितने लोगों की बिजली माफ हुई है, कितना नशा बंद हुआ है लेकिन सरकार ने उक्त मुद्दों से किनारा कर रखा है। ऐसे में अब शिअद पंजाब में पंजाब सरकार के खिलाफ संघर्ष को लामबंद करेगी।

Edited By: Jagran