नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। दिल्ली में अब पार्क भी आजादी के गुमनाम नायकों की कहानी बयां करेंगे। विभिन्न हिस्सों में बने जिला स्तरीय पार्कों में इन नायकों के नाम का पत्थर भी लगेगा एवं इनमें उनके व्यक्तित्व-कृतित्व पर भी पूरी जानकारी रहेगी। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर सोमवार सुबह एलजी वीके सक्सेना इनका अनावरण कर इन्हें दिल्लीवालों को समर्पित करेंगे।

डीडीए के 16 पार्क बलिदानियों के नाम

डीडीए ने इस मुहिम में 16 डिस्टिक्ट पार्कों का चयन किया है। नामकरण से पहले इन सभी पार्कों का सुंदरीकरण भी किया गया। बेहतर चारदीवारी के साथ-साथ वहां के ट्रैक भी दुरुस्त किए गए। हरियाली और पेड़-पौधों की स्थिति में सुधार किया गया। खास बात यह कि ये पार्क न केवल जनता की सेहत बेहतर बनाएंगे, बल्कि यहां आने वालों को देश के गौरवशाली इतिहास से भी रूबरू कराएंगे।

आजादी के इन गुमनाम नायकों के नाम पर किए पार्क

आसफ अली, अवध बिहारी, मास्टर अमीर चंद, लाला हरदयाल, कर्नल गुरबक्श सिंह ढिल्लों, जनरल शाह नवाज खान, गोविंद बिहारी लाल, सत्यवती, कर्नल प्रेम सहगल, बसंता कुमार विश्वास, भाई बालमुकुन्द, डा. सुशीला नय्यर, हकीम अजमल खान, ब्रज कृष्णा चांदीवाला, स्वामी श्रद्धानंद एवं दीनबंधु सीएफ एंड्रू।

जिन पार्को को बलिदानियों का नाम मिला है, उनमें डिस्टिक्ट पार्क, आर ब्लाक, ग्रेटर कैलाश पार्ट वन, डिस्टिक्ट पार्क, सेक्टर बी, वसंत कुंज, वसंत वैली स्कूल के पीछे का पार्क, सेक्टर सी, वसंत कुंज, डिस्टिक्ट पार्क, अपोलो अस्पताल के पास, जसोला, डिस्टिक्ट पार्क, लोक विहार, पीतमपुरा, डिस्टिक्ट पार्क, संदेश विहार, पीतमपुरा, एफ ब्लाक पार्क, विकासपुरी, डिस्टिक्ट पार्क, ए-ब्लाक, जनकपुरी, पार्क नं. 27, सेक्टर-11, द्वारका आदि शामिल हैं।

पार्कों को नया नाम ही नहीं, नया रूप भी दिया गया

डीडीए के निदेशक (उद्यान) अशोक कुमार ने बताया कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर इन पार्कों को नया नाम ही नहीं, नया रूप भी दिया गया है। गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर इन पार्कों का नामकरण करने का मुख्य उद्देश्य नई पीढ़ी को परिचित कराना है। उम्मीद है कि अब यह पार्क दिल्लीवासियों को और लुभाएंगे।

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट