नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने लोगों के डेबिट कार्ड बदलकर ठगी करने वाले गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है। आरोपित कुलदीप हरियाणा के हिसार का रहने वाला है। इसके दो साथियों धर्मवीर उर्फ धापी और सुनील को क्राइम ब्रांच ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। डीसीपी विचित्र वीर के अनुसार, जनकपुरी थाने में दी गई शिकायत में एक बुजुर्ग ने बताया कि वो एटीएम बूथ पर नकदी निकालने के लिए पहुंचे थे। आरोपितों ने उनका ध्यान भटका कर कार्ड बदल लिया और फिर उनके खाते से दो लाख 53 हजार रुपये निकाल लिए।

आरोपित कार्ड की क्लोनिंग कर लेते थे। एसीपी नरेंद्र सिंह, इंस्पेक्टर दीपक पांडेय, एसआइ सतेंद्र, हवलदार अशोक और प्रदीप की टीम गठित की गई थी। जांच के क्रम में पता चला कि कुलदीप को हिमाचल प्रदेश पुलिस एक धोखाधड़ी के मामले में पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। ऐसे में दिल्ली पुलिस ने उसे प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार कर लिया।

ठक-ठक गिरोह के दो बदमाश गिरफ्तार

इधर, ठक-ठक गिरोह के दो बदमाशों को पंद्रह अगस्त को मदनगीर इलाके से स्पेशल स्टाफ ने गिरफ्तार कर उनसे चोरी और झपटमारी के चार मोबाइल और स्कूटी बरामद की है। डीसीपी बेनिता मेरी जैकर ने बताया कि बदमाशों की पहचान मदनगीर निवासी विनेश उर्फ सोनू और मदनगीर निवासी रोहन उर्फ माया के रूप में हुई है। विनेश अंबेडकर नगर इलाके का घोषित बदमाश है और पहले से 14 वारदात में शामिल रहा है।

चोरी की बाइक से झपटमारी करने वाले दो गिरफ्तार

वहीं, दक्षिणी दिल्ली में चोरी की बाइक से झपटमारी की वारदात को अंजाम देने वाले दो बदमाशों को छतरपुर से मैदानगढ़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनसे पांच मोबाइल, चोरी की बाइक के अलावा वारदात में इस्तेमाल बाइक बरामद की है। गिरफ्तार बदमाशों की पहचान संगम विहार निवासी फिरोज खान और जेजे कैंप तिगड़ी निवासी अनिल उर्फ जोनी के रूप में हुई है। पुलिस ने इनसे दूसरी वारदातें खुलने का दावा किया है।

Edited By: Prateek Kumar