नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। सेना मुख्यालय में सत्ता परिवर्तन का असर नजर आने लगा है, जहां जनरल वीके सिंह अब केवल अतीत हैं। नए सेनाध्यक्ष जनरल बिक्रम सिंह ने अपने पूर्ववर्ती द्वारा उठाए मुद्दों और विवादों को तवज्जो देने से इंकार किया है। उन्होंने कहा, 'सेना की गाड़ी विंडस्क्रीन देखकर चलाई जाएगी, रियर व्यू मिरर से नहीं।' सेना प्रमुख ने अपनी प्राथमिकताएं स्पष्ट करते हुए कहा कि सेना में किसी भी चूक पर पर्दा डालने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

अपने कार्यकाल की औपचारिक शुरुआत करने पहुंचे नए सेनाध्यक्ष को शुक्रवार सुबह रक्षा मंत्रालय के अहाते में सलामी गारद पेश की गई। सलामी के बाद मीडिया से रू-ब-रू जनरल बिक्रम सिंह ने कहा, 'देश को यह भरोसा होना चाहिए की सेना अपने संवैधानिक दायित्वों के अनुरूप अपेक्षित नियमों के साथ अपनी भूमिका अदा करती रहेगी और देश के सबसे अनुशासित, जिम्मेदार व भरोसेमंद संगठन के रूप में काम करेगी। सेना एक गैर-राजनीतिक और धर्मनिरपेक्ष संगठन के रूप में उसी तरीके से काम करेगी जैसी उससे अपेक्षा है।'

लद्दाख के न्योमा में जवानों व अधिकारियों के बीच झड़प और सेना की तीसरी कोर में अफसरों के खिलाफ फर्जी मुठभेड़ के मामले में कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर उनका कहना था कि सभी मामलों में नियमों के अनुरूप कार्रवाई होगी। बिक्रम सिंह गुरुवार तक कोलकाता स्थित पूर्वी सैन्य कमान के प्रमुख थे, दीमापुर स्थित तीसरी कोर उन्हीं के मातहत थी। तीसरी कोर के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल दलबीर सिंह सुहाग को हाल में एक मुठभेड़ को लेकर नोटिस मिला है। आरोप है कि तीसरी कोर की खुफिया इकाई ने अपने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर तीन लोगों को उठाया और फर्जी मुठभेड़ में उनकी हत्या कर दी। सेनाध्यक्ष ने बताया कि इस संबंध में उनके स्टाफ अधिकारी ने चिट्ठी लिखी है। जनरल ने जोर दिया कि किसी भी मामले को दबाया नहीं जाएगा।

जनरल वीके सिंह के कार्यकाल के दौरान उठे विवादों और सेना व सरकार के बीच उपजी तकरार की स्थिति के बारे में पूछने पर सेना प्रमुख का कहना था, 'मेरा नजरिया अतीत को पीछे छोड़ आगे बढ़ने का है। सेना को आगे ले जाते समय हमारी नजर विंडस्क्रीन पर होगी रियर व्यू मिरर पर नहीं।' जनरल वीके सिंह के कार्यकाल में सेना की अंदरूनी सेहत के दावों और वादों पर खासा जोर था। इस मुद्दे पर नए सेना प्रमुख ने स्पष्ट किया कि हर इकाई और हर कमांडर सेना की सेहत पर ध्यान देता है। कुछ काम किए गए हैं जिन्हें हम आगे बढ़ाएंगे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस