श्रीनगर , नवीन नवाज। ...भाई, ये भेड़ बहुत अच्छी नसल की है, कितने की है? दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग की पशु मंडी में शनिवार को अचानक पहुंचे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने एक भेड़ विक्रेता से यह सवाल पूछा। भेड़ विक्रेता उन्हें ग्राहक समझकर बोला, ...पता है यह भेड़ मैं कहां से लाया हूं। ...यह कारगिल के द्रास से लाया हूं। ...पता भी है कि द्रास कहां है? ...वहां बहुत ठंड होती है। उसकी बात सुनकर डोभाल मुस्कराए और उसकी पीठ थपथपाई। इतने में पास खड़े अनंतनाग के जिला उपायुक्त खालिद जहांगीर बोल पड़े, जानते हो किससे बात कर रहे हो? इस पर भेड़ विक्रेता घबरा गया और बोला नहीं? भेड़ विक्रेता ने उन्हें सलाम करते हुए उनसे हाथ मिलाया और कहा, जनाब मैंने आपको नहीं पहचाना। इसपर जिला उपायुक्त बोले, यह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल साहब हैं। भेड़ विक्रेता को घबराया देख डोभाल ने कहा, कोई बात नहीं, यहां सब बहुत अच्छा चल रहा है। इसके बाद वह आगे निकल गए।

यह पूरा वाक्या अनंतनाग की पशु मंडी का है। जहां सोमवार को ईद के मद्देनजर भेड़ विके्रता कुर्बानी के लिए जानवर बेचने पहुंचे थे। भेड़ पालक डोभाल को एक खरीदार समझकर उनके साथ मोल-भाव करता रहा। दरअसल, आम कश्मीरी को अनुच्छेद 370 या विशेष दर्जे से कोई लेना-देना नहीं है। उन्हें बस अपने काम व अमन चैन से मतलब है। इन्हीं बोले-बाले कश्मीरियों का फायदा उठाकर राजनेता अब तक सियासी रोटियां सेंकते रहे हैं।

अजीत डोभाल खुद कश्मीर की कानून व्यवस्था की स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल बीते कुछ दिनों से कश्मीर में डेरा डाले हुए हैं। वह खुद कश्मीर की कानून व्यवस्था की स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं और ऑन ग्राउंड हालात का जायजा लेते हुए स्थिति को पूरी तरह सामान्य बनाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश भी जारी कर रहे हैं। अजीत डोभाल सुबह अनंतनाग पहुंचे। उन्होंने जिला एसएसपी और जिला उपायुक्त समेत सभी वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ जिले की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने ईद के मद्देनजर किए गए प्रबंधों पर भी चर्चा की। इसके बाद वह अनंतनाग शहर के भीतरी हिस्सों में घूमने निकल पड़े।

डोभाल ने बच्चे से पूछा, स्कूल नहीं जाना पड़ रहा मजा आ रहा होगा  

डोभाल अनंतनाग कस्बे में शेरबाग के पास खाली पड़ी सड़क पर खेल रहे एक बच्चे को देख उसके पास रुक गए। उन्होंने बच्चे को रोका और पूछा आजकल बंद है, स्कूल में नहीं जाना पड़ रहा है, मजा आ रहा होगा। बच्चा मुस्कुराने लगा। डोभाल आगे बड़े तो उन्हें एक और बच्चा साइकिल चलाता नजर आया। डोभाल ने उसे भी रोका। उन्होंने उससे हाथ मिलाते हुए उससे स्कूल के बारे में पूछा।

लोगों को दिलाया विश्वास, जल्द सब कुछ ठीक हो जाएगा  

डोभाल ने बाजार का चक्कर लगाते हुए वहां खड़े कुछ युवकों के अलावा स्थानीय लोगों के एक दल के साथ भी मुलाकात की। उन्होंने उनके साथ हालात पर चर्चा करते हुए कहा कि जल्द ही सब कुछ ठीक हो जाएगा। यह जो किया गया है, कश्मीर और कश्मीरियों की बेहतरी के लिए किया गया है। इस दौरान कुछ लोगों ने उनसे कहा कि सब कुछ ठीक है। हालात बढिय़ा हैं। बस, टेलीफोन और इंटरनेट सेवा को जल्द बहाल कर दिया जाना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने उन्हें जल्द ही सभी सुविधाओं के बहाल होने का यकीन दिलाया।

मंडी में पहुंचकर लोगों को कहा, ईद मुबारक  

डोभाल एक चौक में लगी कुर्बानी के लिए जानवरों की मंडी में पहुंचे। उन्हें देखकर भेड़ व्यापारी भी जमा हो गए। डोभाल ने स्थानीय भेड़पालों और व्यापारियों से भी बातचीत की। उन्होंने मंडी में मौजूद कई ग्राहकों से भी हालात और ईद की तैयारियों पर चर्चा की। इसके बाद डोभाल ने सभी को ईद मुबारक कहा और वहां से निकल गए। कुछ दिन पूर्व डोभाल ने आतंकियों के गढ़ शोपियां में बाजार में खड़े होकर लोगों के साथ खाना भी खाया था।

तीन महत्वपूर्ण दिन कश्मीर में रहेंगे डोभाल

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल कश्मीर में सुरक्षा व कानून व्यवस्था के लिहाज से बेहद अहम माने जा रहे तीन दिन घाटी में ही रहेंगे। राज्य में 12-13 अगस्त को ईद का पर्व है। 14 को पाकिस्तान की आजादी का दिन और 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस। शरारती तत्व कश्मीर में हर बार इन तीन दिनों में माहौल बिगाडऩे के प्रयास में रहते हैं। वैसे भी इस बार केंद्र सरकार ने पंद्रह अगस्त के दिन कश्मीर घाटी की सभी पंचायतों में तिरंगा फहराने की योजना बनाई है। ऐसे में डोभाल खुद कश्मीर में रहकर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप