जागरण संवाददाता,जयपुर । सीमा पर हाथ में बंदूक लिए देश की रखवाली करने वाले जवान के गले से जब संगीत के सुर निकले तो संगीत की महान हस्तियों की आंखों में भी आंसू आ गए। इंडियन आइडल के मंच पर जैसलमेर में भारत पाक सीमा पर तैनात बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ)के जवान सुरेन्द्र सिंह ने फौजी की वर्दी पहन एंट्री ली और बॉर्डर फिल्म का जवानों के हालातों को दर्शाते गीत 'संदेशे आते हैं, हमें तड़पाते हैं' गाया तो वहां मौजूद सभी लोगाो की आंखों में आंसू आ गए। 

बंदूक थामने वाले हाथों ने अपनी सुरीली आवाज़ का ऐसा जादू चलाया की जजों ने उन्हें अगले राउंड में मुंबई आने का आमंत्रित कर दिया । ख़ुशी के पल अपनी आंखों में लिए जैसलमेर पहुंचे सुरेन्द्र सिंह का उसके साथी जवानों ने दिल से स्वागत कर सफलता पर बधाई दी । इसके साथ ही सीमा सुरक्षा बल सेक्टर नार्थ के डीआईजी अमित लोढ़ा ने भी उसकी हौसला अफजाई करते हुए उसे बधाई देते हुए अगले पायदान के लिए और ज्यादा मेहनत करके जाने की बात कही ।

लोढ़ा ने बताया की सुरेन्द्र को उन्होंने जब यहां सुना तब उन्होंने उसे हर मंच पर गाने के लिए मोटिवेट किया । वहीं साथी जवानों के बीच बैठकर अपने गीत संदेशे आते हैं को गुनगुनाने वाले सुरेन्द्र सिंह ने इस सफलता के लिए अपने माता पिता का आशीर्वाद तथा डीआईजी अमित लोढा का आभार जताया ।

वो अब और मेहनत करेंगे तथा आगे के पड़ावों के लिए अपना नियमित रियाज़ कर रहे है । अपने आपको इंडियन आइडल-2018 बनाने के लिए रात दिन जुटे हुए है । उन्होंने बताया की गीत गाना उन्हें बहुत अच्छा लगता है लेकिन उनके लिए सबसे पहले देश की सुरक्षा है ।

विषम परिस्थितियों में तैनात रहती है बीएसएफ

सीमा पर रखवाली करने वाली देश की पहली सुरक्षा पंक्ति सीमा सुरक्षा बल हमेशा बॉर्डर पर विषम परिस्थितियों में तैनात रहती है ।जैसलमेर से सटी भारत पाक सीमा पर गर्मियों में तापमान 50 डिग्री से भी ऊपर पहुंच जाता है वहीं सर्दियों में पारा जमा बिंदु तक चला जाता है, लेकिन ऐसी हालातों में भी बीएसएफ के जवान सरहद की सुरक्षा चौकस निगाहों से करते है । आज उसी बीएसएफ के एक जवान ने अपना कदम इंडियन आइडल के मंच पर रखकर जैसलमेर व पूरे देश में सेना का मान बढाया है ।

Posted By: Sanjeev Tiwari