नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। IMD Rainfall Alert, Weather Report Today: मौमस में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। उत्तर भारत में जहां ठंड ने दस्तक दे दी है तो वहीं दक्षिण भारत के राज्यों में अभी भी बारिश की संभावना बनीं हुई है। पहाड़ी राज्यों, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड में बर्फबारी ने तापमान में गिरावट ला दी है। उधर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

यूपी-बिहार समेत उत्तर, मध्य और पूर्वी भारत में जहां लगातार तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है और सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है, वहीं दक्षिण भारत के राज्यों को अभी बारिश से राहत मिलने की कोई संभावना नहीं है। मौसम विभाग की मानें तो बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव क्षेत्र बन गया है और इसके विक्षोभ में केंद्रित होने और तमिलनाडु, पुडुचेरी और आसपास के इलाकों में बढ़ने की संभावना है। जानें आज कैसा रहने वाला है मौसम।

दिल्ली सहित इन राज्यों में तापमान में गिरावट

स्काईमेट वेदर के मुताबिक, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उड़ीसा , बिहार और झारखंड में न्यूनतम तापमान 10 से 12 डिग्री के बीच आ गए हैं। अब कड़ाके की सर्दी शुरू होने वाली है। बंगाल की खाड़ी में बना लो प्रेशर डिप्रेशन में सशक्त होकर तमिलनाडु की ओर बढ़ेगा। पहाड़ों पर फिर बर्फबारी संभव है।

इन राज्यों में होगी भारी बारिश

मौसम विभाग ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि अंडमान और निकोबार में आज यानी शुक्रवार को मध्यम से भारी बारिश होने जा रही है। इस दौरान 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चलेंगी। वहीं, तटीय तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल में 20 से 22 नवंबर तक तीन दिनों तक मध्यम से भारी बारिश होगी। आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों और रायलसीमा में 21 और 22 नवंबर को बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

मछुआरों के लिए चेतावनी जारी

मौसम विभाग के अनुसार, मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे 18 नवंबर को अंडमान सागर से सटे बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी और दक्षिण-पश्चिम और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के आस-पास के क्षेत्रों में नहीं जाएं। वहीं, दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे दक्षिण-पूर्व और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में 19 नवंबर को नहीं जाएं।

देश भर में ये मौसम प्रणाली सक्रिय

  • दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और उससे सटे उत्तरी अंडमान सागर पर निम्न दबाव का क्षेत्र विकसित हो गया है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 7.6 किमी तक फैला हुआ है।
  • अगले 48 घंटों के दौरान इसके पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ने और दक्षिण बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर एक डिप्रेशन के रूप में केंद्रित होने की संभावना है।
  • केरल और आसपास के इलाकों में निचले स्तरों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र देखा जा सकता है।
  • पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी अफगानिस्तान और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है।

दिल्ली-एनसीआर के मौसम का हाल

दिल्ली-एनसीआर में अब भी वायु प्रदूषण से लोग परेशान है। दिल्ली समेत एनसीआर के कई इलाकों की हवा अब भी खराब है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, दिल्ली में 24 घंटे का वायु गुणवत्ता सूचकांक 260 रहा, जो ‘खराब’ श्रेणी में आता है। बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब और 401 से 500 के बीच एक्यूआई गंभीर माना जाता है। आज भी एक्यूआई के खराब श्रेणी में रहने की संभावना है।

यह भी पढ़ेंः पहाड़ों पर बर्फबारी से उत्तर भारत में बढ़ी ठंड, जानें- दिल्ली से यूपी तक के मौसम का हाल

Edited By: Sanjeev Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट