नई दिल्ली, एजेंसी। उत्तर भारत के पहाड़ों में हुई भारी बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी दिखाई देने लगा है। जहां हिमाचल में गुरुवार को रिकार्ड बर्फबारी हुई। वहीं, कश्मीर में भी रुक-रुक कर हिमपात का दौर जारी रहा। ऐसे में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से दिल्ली में फरवरी की पहली बारिश हुई। दिनभर रुक-रुक कर हुई बारिश के बीच बादल भी खूब गरजे। तेज हवा के साथ हो रही बारिश के कारण शाम तक ठिठुरन भी एक बार फिर से महसूस होने लगी। शुक्रवार से न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भी गिरावट आने की संभावना है।

 उत्तराखंड, हिमाचल समेत दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार को मौसम ने अचानक करवट ली है। पहाड़ी इलाकों में जबरदस्त बर्फबारी हुई है। उत्तराखंड के उत्तराकाशी में बर्फ की परत से जमीन ढकी हुई नजर आ रही है। वहीं, दिल्ली के कई इलाकों में रुक-रुककर बारिश हुई। बता दें कि मौसम विभाग ने बुधवार को ही अनुमान जताया था कि दिल्ली में अगले 48 घंटे में बारिश हो सकती है। अगले दो दिन तापमान में गिरावट होगी और ठिठुरन का एहसास होगा। इसके बाद तापमान में धीरे धीरे इजाफा होना शुरू हो जाएगा।

दिल्ली में आंधी-तूफान के साथ बारिश का अनुमान (delhi weather update)

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 2 से 3 दिनों तक यहां का मौसम सामान्य रह सकता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दिल्ली में ताजा पश्चिमी विक्षोभ की वजह से अब पूर्वी हवाएं बह रही हैं जो बर्फीले पहाड़ों से मैदानी इलाकों में बहनेवाली पश्चिमी हवाओं जैसी सर्द नहीं हैं। विभाग ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से गुरुवार यानी आज और शुक्रवार को हल्की बारिश हो सकती है। वहीं इस बेमौसम बारिश के दौरान गरज के साथ ओले भी पड़ सकते हैं। मौसम विभाग ने न्यूनतम तापमान बढ़कर 11 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई है।

यूपी में ओलावृष्टि की संभावना (UP Weather update)

उत्तर प्रदेश के पूर्वी इलाकों में पिछले 24 घंटे में कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ा है। वहीं, कुछ इलाकों में दिन के तापमान में बढ़ोत्तरी देखी गई है। मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों पर गुरुवार को गरज के साथ ओलावृष्टि की संभावना जताई है।

इन राज्यों में बारिश की संभावना (Rain Alert for these states)

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और लद्दाख में बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई गई है। वहीं, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और दिल्ली-एनसीआर से सटा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है।

उत्तराखंड में हिमपात और बूंदाबांदी से बढ़ी ठंड (uttarakhand weather news)

उत्तराखंड में मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। बादलों के डेरा डालने के बाद प्रदेश के मैदानी इलाकों में बारिश और चारधाम समेत आसपास की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई। चार धाम में बर्फबारी जारी है। उत्तरकाशी में गंगोत्री राजमार्ग सुकी के बाद बर्फबारी के चलते अवरुद्ध हो गया है। कहीं-कहीं ओलावृष्टि की भी सूचना है। मौसम विभाग के अनुसार अभी अगले दो दिन मौसम का मिजाज बदला रहेगा। इस दौरान देहरादून और हरिद्वार समेत आसपास के इलाकों में बारिश व ओलावृष्टि हो सकती है। वहीं, पर्वतीय क्षेत्रों में चोटियों पर हल्का हिमपात होने के आसार हैं।

हिमाचल में हिमपात से गिरने लगा पारा ( Himachal weather update)

राजधानी शिमला में गुरुवार को 12 घंटे में ही 50 सेंटीमीटर हिमपात हुआ है। 12 घंटे में दर्ज की गई आज तक की सबसे ज्यादा बर्फबारी है। इससे पहले 24 घंटे में 54.1 सेंटीमीटर बर्फ 12 फरवरी 2002 में रिकॉर्ड की गई थी। फरवरी में सबसे ज्यादा बर्फबारी 1990 में 151 सेंटीमीटर दर्ज की गई थी। मौसम विभाग के क्षेत्रीय निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि 50 सेंटीमीटर बर्फबारी शिमला में 12 घंटे में पहली बार रिकार्ड की गई है। हिमपात के चलते कल्पा में -4.6, केलंग में -6.3, डलहौजी -1.2 और कुफरी में न्यूनतम तापमान -1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हिमपात के कारण प्रदेश में 267 सड़कों पर यातायात बंद है। इनमें तीन राष्ट्रीय राजमार्ग व एक राज्य राजमार्ग भी शामिल है। हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम के 470 बस रूट बंद हैं। निगम की 300 से अधिक बसें इन रूटों पर फंस गई हैं। सबसे अधिक 112 सड़कें लाहुल-स्पीति जिला में बंद हैं। बर्फ के कारण कई स्थानों पर बिजली के तार और पोल टूट गए हैं। 400 से अधिक ट्रांसफार्मर खराब हो गए हैं। इस कारण बिजली आपूर्ति बाधित है। बर्फबारी के कारण 33 पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं। शुक्रवार को प्रदेश के मध्यम व अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश-हिमपात की संभावना है।

चढ़ा तापमान तो पिघलने लगी डल झील  (weather jammu kashmir)

55 दिन बाद गुरुवार को श्रीनगर का पारा जमाव बिंदु से ऊपर रहने से लोगों को ठंड से कुछ राहत मिली है। हालांकि दूसरे दिन भी रुक-रुक कर बर्फबारी जारी रही। ऊधर, जम्मू में आसमान में बादल छाए रहे। मौसम विभाग ने नौ फरवरी को छोड़ 13 फरवरी तक वादी में मौसम के मिजाज शुष्क रहने और तापमान में फिर से गिरावट आने की संभावना जताई है। बर्फबारी के बीच गुरुवार को श्रीनगर के न्यूनतम तापमान कुछ चढ़कर 0.4 डिग्री पर आ गया। तापमान में सुधार होने से श्रीनगर में नलों में पानी और डल झील में जमी बर्फ भी पिघलनी शुरू हो गई। हालांकि पहलगाम, गुलमर्ग और अन्य जगहों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे ही बना रहा।

जम्मू-कश्मीर में दूसरे दिन भी हवाई सेवा बाधित रही

कम रोशनी और रनवे पर जमा बर्फ के चलते कश्मीर में गुरुवार को भी अधिकांश उड़ानें रद रहीं। एयरपोर्ट के निदेशक संतोश ढोके के अनुसार, 14 उड़ानें गुरुवार दोपहर तक शेड्यूल की गई थीं। मगर कम रोशनी और रनवे पर बर्फ जमा होने के चलते उड़ानों का आवागमन नहीं हो पाया। दोपहर बाद मौसम में सुधार और विजिबिलिटी बेहतर होने के साथ रनवे से बर्फ हटाई गई। इसके बाद शेड्यूल की गई उड़ानों का आवागमन संभव हो सका।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021