मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। मध्य प्रदेश और गुजरात में भारी बारिश और बाढ़ से हालात बद से बदतर हो गए हैं। मौसम विभाग (India Meteorological Department) के मुताबिक आने वाले दिनों में भी बारिश से राहत के कोई आसार नजर नहीं आ रहे। मौसम विभाग ने गुरुवार को मध्य प्रदेश, गुजरात समेत देश के कई राज्यों में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। लगातार हो रही भारी बारिश से यातायात के संचालन पर भी बूरा असर पड़ा है।

इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार को मध्य प्रदेश, गुजरात, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और ओडिशा में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है, जबकि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, बिहार, झारखंड, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई है।

15 सितंबर तक जारी रहेगा बारिश का दौर
मध्य प्रदेश में भारी बारिश का सिलसिला जारी है। राजधानी भोपाल में भारी बारिश लोगों के लिए मुसीबत बनकर आई है। शहर के कई निचले इलाके पानी में डूब गए हैं। वहीं, 2016 के बाद पहली बार कोलार डैम के गेट खोलने पड़े हैं। मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है सेंट्रल एमपी के ऊपर मॉनसूनी हवाओं की वजह से कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसकी वजह से राज्य में 15 सितंबर तक बारिश का दौर जारी रहेगा।

38 जिलों में बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के 38 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इनमें से 18 जिलों में रेड अलर्ट है तो वहीं 20 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विज्ञानियों ने गुरुवार को प्रदेश के इंदौर, धार, खंडवा, खरगौन, झाबुआ, उज्जैन, रतलाम, शाहपुर, देवास, नीमच, मंदसौर, भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, गुना और अशोकनगर समेत कई जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई है।


गुजरात में भी भारी बारिश का दौर
गुजरात में भी भारी बारिश का दौर जारी है। अहमदाबाद, वड़ोदरा, भरुच, आणंद में चार से पांच इंच बारिश होने से पूरा शहर तालाब में तब्दील हो गया है। बारिश के कारण रोड-रेल व हवाई यतायात पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी है। वडोदरा के बीचों बीच से गुजरती विश्वामित्री नदी का जल स्तर बढ़ने से एक फिर लोगों को मगरमच्छ का डर सता रहा है। अहमदाबाद की साबरमती नदी का जल स्तर बढ़ने से धोलका, बावला, साणंद सहित के गांवों को अलर्ट कर दिया गया है।

गुरुवार को आफत की बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण गुजरात के वलसाड, नवसारी, डांग, तापी और सूरत में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश के कारण कई नदियां पहले ही खतरे के निशान के पास बह रही हैं, अधिकारियों ने कहा है कि भारी बारिश के कारण एनडीआरएफ की टीमों को दक्षिण गुजरात क्षेत्र के विभिन्न जिलों में तैनात किया गया है। भरूच जिले में नर्मदा नदी के किनारे रह रहे एक हजार से ज्यादा लोगों को अबतक सुरक्षित स्थानों पर भेजा पहुंचाया गया है।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप