नई  दिल्ली, एजेंसियां। कई राज्यों में भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। उधर महाराष्ट्र के मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी है और मौसम विभाग ने इसके मद्देनजर बुधवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून वर्तमान में कोंकण तट और आसपास के क्षेत्र में सक्रिय है। मुंबई सहित पश्चिम के तटों का क्षेत्र और भारत के पूर्वी तट पर ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में बारिश की संभावना है।

इसी बीच गरज के साथ बारिश होने के बाद बुधवार को दिल्ली एनसीआर के कुछ हिस्सों में मॉनसून वर्षा हुई।

आईएमडी ने ट्वीट करते हुए कहा था कि तेज हवा के साथ मध्यम से भारी तीव्रता वाली गरज के साथ 20-40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से एंट्री दिल्ली, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, नोएडा और आसपास के इलाकों में होगी। इस बीच, मुंबई सहित देश के कई हिस्सों में मॉनसून वर्षा हुई, जहां बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई थी और जलभराव की स्थिति पैदा हो गई थी।

मछुआरे को फिलहाल, अरब सागर में ना जाने की चेतावनी

मौसम के पूर्वानुमान क देखते हुए मछुआरे को फिलहाल के लिए अरब सागर में ना जानें की चेतावनी दी है।  सतह और निचले क्षोभमंडल दोनों में अरब समुद्र के ऊपर मजबूत किया गया। वर्तमान में अरब सागर और उससे सटे इलाकों में 50-60 किमी प्रति घंटे हवा की गति है। साथ ही मच्छुारों से कहा गया है कि  5 और 6 अगस्त, 2020 को अरब सागर के साथ और गुजरात के तट से दूर रहें। 

पूरे हफ्ते इन राज्यों में जारी रह सकती है बारिश 

गुजरात के कच्छ इलाके के साथ-साथ दमन एवं दादरा नगर हवली में भी इस दौरान मध्यम बारिश होने की संभावना है। इधर केरल में, वायनाड, पलक्कड और इडुकी, में भारी बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों का पूर्वानुमान है कि इसे पूरे हफ्ते मध्य और उत्तरी केरल में बारिश का दौर जारी रहेगा।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस