नई दिल्ली। संसद का बजट सत्र चल रहा है और इसके दूसरे दिन लोकसभा में जेएनयू पर चर्चा हुई। कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए संसदीय कार्य मंत्री वैकेंया नायडू ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला।

उन्होंने सदन में मौजूद कांग्रेस नेताओं द्वारा टोके जाने पर कहा कि हमने आपको कई वर्षों तक सहन किया है, आप कम से कम 10 साल तो सहन कीजिए। मैं अभी तक देश के बारे में ही बात कर रहा था परिवार के बारे में नहीं। आपके लिए देश ही परिवार है और एक परिवार ही देश है लेकिन हमारे लिए ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि जो जेएनयू में हुआ हम इस तरह की देश विरोधी गतिविधियों को सहन नहीं कर सकते, हम अपने युवाओं को गलत रास्ते पर नहीं जाने दे सकते। क्या आप सोच सकते हैं कि अमेरिका ओसामा बिन लादेन के समर्थन में लगाए गए नारों को सहन करेगा।

उन्होंने आगे कहा कि एक बार मैं अपने ओएसडी के साथ अमेरिका गया था, उसे वहां रोक लिया गया और दाढ़ी होने की वजह से एक घंटे तक पूछताछ की गई। उन्होंने कांग्रेस की सोच पर बालते हुए चिदंबरम के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व गृहमंत्री ने आज कहा कि अफजल गुरु की फांसी पर गहरा संशय है। कांग्रेस हमें सहमत या असहमत होने की बात ना सिखाए क्योंकि उनके शासन में सैकड़ों छात्र नेताओं को मिसा के तहत जेल में डाल दिया गया था।

पीएम पर खड़गे के बयान को लेकर नायडू ने कहा कि पीएम अपना काम कर रहे हैं और खूबसूरती से कर रहे हैं। उनकी अगर ओबामा से मित्रता है तो इसका मजाक क्यों बनाया जाए? नायडू ने यह बात खड़गे के उस बयान पर कही जिसमें उन्होंने कहा था कि पीएम की अगर ओबामा से इतनी दोस्ती है तो पूछें की पाक को एफ16 विमान क्यों दिए।

कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए नायडू ने कहा कि मैं गर्व से कहता हूं कि हम आरएसएस की विचारधारा से बने हैं क्योंकि उसकी वजह से हम राजनीति में आए। कुछ लोग पीएम के काम करने पर सवाल उठाते हैं लेकिन वो अपना काम अच्छी तरह कर रहे हैं। ये पार्टियां व्यापार को गलत बताती हैं लेकिन यही लोग दिन में उन्हें दुश्मन कहती है और रात में उन्ही व्यापारियों के साथ दोस्ती निभाती हैं।

मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पिछले 19 महीनों में 4066 गांवों में बिजली पहुंची है। आपने कई गांवों को अंधेरे में छोड़ा था हम उन्हें उजाले में ला रहे हैं। पिछली सरकार की तरह नहीं जहां पीएम प्रमुख थे और मैडम निर्णय लेती थी, हमारी सरकार में पीएम अध्यक्ष हैं और टीम निर्णय लेती है। हमने आपको सालों तक झेला है अब आप भी हमें कम से कम 10 सालों तक सहन करें।


Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप