मुंबई । मशहूर आर्टिस्ट हेमा उपाध्याय और उनके वकील हरीश भंबवानी की हत्या के मुख्य आरोपी विद्याधर राजभर उर्फ गोटू ने अहम खुलासे किए हैं जिसमें उसने बताया है कि आखिर उसने हेमा उपाध्याय और उनके वकील की हत्या क्यों की। गोटू ने खुलासा करते हुए बताया कि उसने हेमा की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी थी क्योंकि हेमा ने उसको तमाचा जड़ दिया था।

मुख्य आरोपी विद्याधर राजभर उर्फ गोटू के पड़ोसी ने पुलिस को बताया कि उसने गोटू के पास फोन किया था क्योंकि गोटू ने अपने पड़ोसी से भी कर्ज ले रखा था तो उसने पैसे मांगने के लिए गोटू को फोन किया था। इस दौरान उसने बताया कि पैसों को लेकर बहस हुई थी और इसी बहस के बीच हेमा ने उसके थप्पड़ रसीद कर दिया था और खुन्नस खाए गोटू ने हेमा और उसके वकील की हत्या कर दी।

दरअसल गोटू को बिजनेस में घाटा चल रहा था और इसके लिए गोटू ने हेमा से कुछ पैसों की मदद के लिए कहा जिसके लिए हेमा ने उसे मना कर दिया। इसके बाद गोटू ने एक चाल चली उसने हेमा को फोन करके अपने गोदाम में इस बहाने से बुलाया कि वो हेमा के पति चिंतन के तलाक की जानकारी देना चाहता है।

जब हेमा गोटू के गोदाम में पहुंची तो इन दोनों के बीच काफी बहस हुई और इस दौरान हेमा ने गोटू को तमाचा जड़ दिया और इसके बाद गुस्साए गोटू ने हेमा को मौत के घाट उतार दिया। गोटू ने अपने पड़ोसी को बताया कि उसने हेमा का कत्ल थप्पड़ का बदला लेने के लिए किया। और वकील हरीश इस घटना के चश्मदीद थे तो इसलिए उसने उसको भी मौत की नींद सुला दिया।

Posted By: Test1 Test1