नई दिल्ली, एएनआइ। उपराष्ट्रपति व राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने आज उच्च सदन के सभी नेताओं को रात्रिभोज पर बुलाया है। वीपी सचिवालय के सूत्रों के अनुसार, इस रात्रिभोज का आयोजन उपराष्ट्रपति के आधिकारिक आवास पर होगा। राज्यसभा के सभी नेताओं को इस रात्रिभोज में शामिल होने के लिए आमंत्रण भेजा गया था। बता दें कि धनखड़ उपराष्ट्रपति के पदभार संभालने के बाद पहली बार इस तरह का आयोजन कर रहे हैं, जहां एक साथ राज्यसभा के सभी नेताओं से मुलाकात होगी।

कई केंद्रीय मंत्री होंगे शामिल

बता दें कि इस रात्रिभोज में राज्यसभा के नेताओं के अलावा, सदन के नेता व केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी और कुछ वरिष्ठ मंत्री को भी आमंत्रित किया गया है। जानकारी के अनुसार, रात्रिभोज के दौरान विपक्षी दलों के नेता उपराष्ट्रपति के सामने समितियों के पुनर्गठन का मुद्दा उठा सकते हैं। साथ ही उनसे अनुरोध कर सकते हैं कि विपक्षी दलों के प्रति शालीनता जारी रहे। मालूम हो कि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के पास से गृह मामलों की स्थायी समिति की अध्यक्षता जा सकती है। यह पद राज्यसभा की अध्यक्षता वाला पैनल है।

विपक्षी दल उठा सकते हैं समितियों के पुनर्गठन का मुद्दा

बता दें कि कुछ दिनों पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि संसदीय नियमों के अनुसार गृह मामलों की समिति के अध्यक्ष का पद हमेशा विपक्ष के पास रहना चाहिए। खड़गे ने पत्र में लिखा था, 'जैसा कि समझा जाता है, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन पर स्थायी समिति के संबंध में अध्यक्ष का पद कांग्रेस को दिया जा रहा है। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि इस बार भी गृह मामलों की स्थायी समिति का अध्यक्ष पद कांग्रेस को दिया जा सकता है।'

जानकारी के अनुसार, हाल ही में राज्यभा से सेवानिवृत्त होने वाले 100 से अधिक संसद सदस्यों के साथ स्थायी समिति के कार्यकाल की समाप्ति के अलावा विभिन्न समितियों में कई पद खाली हैं।

ये भी पढ़ें: केंद्रीय गृहंत्री शाह आज से जम्मू कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर, भाजपा की सियासत को देंगे धार

ये भी पढ़ें: अमेरिका में भारतीय मूल के नागरिक को मिला लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, अत्याधुनिक ड्रोन बनाने का कर चुके करिश्मा

Edited By: Devshanker Chovdhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट