नई दिल्ली, एएनआइ। केरल के सोना तस्करी मामले में भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम इस पूरे मामले की जांच को लेकर दुबई (यूएई) के संपर्क में हैं। केरल सोना तस्करी मामले के संबंध में यूएई वाणिज्य दूतावास के लोग रविवार को दिल्ली आए थे और अब वो जा चुके हैं।

केरल में सोना तस्करी के मामले में एनआइए की एफआइआर के साथ ही प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी सक्रिय हो गया है। सोना तस्करी के पीछे बड़ी साजिश की आशंका को देखते हुए ईडी मनी लांड्रिंग रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज कर इसकी जांच शुरू कर सकता है। पीएमएलए के तहत ईडी को सोना तस्करी से बनाई गई आरोपितों की सारी संपत्ति जब्त करने और बैंक खाते कब्जे में लेने का अधिकार है।

स्वपना सुरेश को बेंगलुरू से किया गया गिरफ्तार

एफआइआर दर्ज होने के साथ ही एनआइए ने इस मामले में दो आरोपितों स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया था। इन दोनों को फिलहाल दो दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

केरल के सीएम पूर्व प्रमुख सचिव से हुई पूछताछ

सीमा शुल्क विभाग ने बुधवार को केरल के मुख्यमंत्री के पूर्व प्रमुख सचिव एम शिवशंकर से इस मामले के सिलसिले में कस्टम्स हाउस में नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी। तिरुवनंतपुरम में सीमा शुल्क द्वारा भंडाफोड़ किए गए राजनयिक सामान के रूप में खेप में तस्करी किए गए 14.82 करोड़ रुपये के 30 किलोग्राम सोने से संबंधित यह मामला सामने आया है।

पांच जुलाई को पकड़ा गया था 15 करोड़ रुपये का 30 किलोग्राम सोना

बता दें कि पांच जुलाई को तिरुअनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर सीमा शुल्क विभाग ने करीब 15 करोड़ की 30 किलोग्राम सोने की एक खेप को जब्त किया था। सोना संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के महावाणिज्य दूतावास के एक राजनयिक के नाम एयर कार्गो के जरिये भेजा गया था। इस मामले में सारिथ पीएस, स्वप्ना सुरेश, फैजल फरीद व संदीप के खिलाफ गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) समेत आइपीसी की अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। सारिथ, स्वप्ना व संदीप की गिरफ्तारी हो चुकी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस