नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत ने रविवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान उच्चायोग के दो अफसरों को जासूसी के आरोप में देश छोड़ने का आदेश दिया है। उन्हें 24 घंटे में देश छोड़ने को कहा गया है।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अफसरों को भारतीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने जासूसी करने के आरोप में पकड़ा था। सरकार ने उन्हें अवांछित घोषित किया है। भारत ने उनकी गतिविधियों को राजनयिक मिशन के एक सदस्य के रूप में गैरकानूनी और देश के खिलाफ माना और उनसे कहा गया कि वे 24 घंटे के अंदर देश छोड़ दें।

उनकी गतिविधियों को देश विरोधी बताते हुए सरकार की ओर से पाक के उप राजदूत को एक आपत्तिपत्र भी जारी किया गया है जिसमें इस मामले पर विरोध दर्ज कराया गया है। विदेश मंत्रालय ने बताया कि इसमें यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि पाक के राजनयिक मिशन का कोई भी सदस्य भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त न हो और अपनी उपस्थिति के दौरान असंगत व्यवहार न करे।

पहले भी पकड़े जा चुके हैं अधिकारी

हालांकि, यह पहला मौका नहीं है जब भारत में जासूसी नेटवर्क चलाने की साजिशों के नई दिल्ली स्थित पाक उच्चायोग से जुड़े तार उजागर हुए हैं। ससे पहले 2016 में भी पाक उच्चायोग के एक राजनयिक को रंगे हाथों पकड़ा गया था। उसे भी परसोना-नॉन-ग्रेटा करार देते हुए भारत से निकाला गया था।

अधिकारियों के नाम आबिद हुसैन व ताहिर खान

ऐसा पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान ने अपने नापाक मनसूबों को पूरा करने के लिए भारत की जासूसी की है। इससे पहले भी पाकिस्तान के जासूस भारत में कई बार पकड़े जा चुके हैं। खबरों की मानें तो इन अधिकारियों के नाम आबिद हुसैन व ताहिर खान बताया जा रहा है जो जासूसी कर रहे थे। पाकिस्तान उच्चायोग के दो वीजा सहायकों को नई दिल्ली में जासूसी में शामिल रंगे हाथ पकड़ा गया। 

 

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस