नागपुर। आये दिन नक्सलियों द्वारा की जारी घटनाएं सभी समाचार पत्रों व समाचार चैनलों की सुर्खियां बन रही हैं। अब केंद्र भी इस समस्या से निजात पाना चाह रही है। शनिवार को केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने कहा कि आदिवासी केंद्रित विकास, राजनीतिक प्रक्रिया को मजबूत करने से और पर्याप्त सुरक्षा बलों को तैनात करने से नक्सलवाद समाप्त हो सकता है।

रमेश ने यहां से 160 किलोमीटर दूर नक्सल प्रभावित गढचिरोली जिले में कहा कि नक्सलवाद को समाप्त करने के लिए त्रिस्तरीय रणनीति की जरूरत है। इनमें आदिवासी क्षेत्रों का संवेदनशील तरीके से विकास, पर्याप्त सुरक्षा बलों की तैनाती और राजनीतिक प्रक्रिया को मजबूत करना शामिल है। उन्होंने कहा कि मौजूदा नीतियों से ग्रामीण और वन्य इलाकों में रह रहे आदिवासियों को लाभ नहीं पहुंचा है। जब भी राजनीतिक प्रक्रिया मजबूत हुई है नक्सली कमजोर हुए हैं।

मंत्री ने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और यदि नक्सली विकास चाहते हैं तो उन्हें हथियार छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होना चाहिए। मंत्री रमेश ने यह भी कहा कि आदिवासियों को जंगलों से नहीं हटाया जाएगा और सरकार उन्हें वन्य भूमि एवं उत्पादन को लेकर कुछ अधिकार दिए हैं जो एक ऐतिहासिक कदम है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप