जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। अपने अभिभावक के साथ हज पर जाने वाले बच्चे को भी हवाई किराया देना होगा। दो साल से कम उम्र के बच्चों के लिए दस फीसद किराया देना होगा, जबकि दो साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों के लिए पूरा किराया लगेगा। पहले पांच साल तक के बच्चों का किराया नहीं लगता था। केंद्रीय हज कमेटी ने हज की नई गाइडलाइन में इसका जिक्र है। यह फैसला नागरिक उड्डयन मंत्रालय का है। जिसे केंद्रीय हज कमेटी ने लागू कर दिया है।

इसके अलावा महिला आजमीन के साथ जाने वाले महरम (सगा भाई, पिता, बेटा, दादा आदि) के नियम में भी तब्दीली की गई है। महिला आजमीन और 70 साल की उम्र से अधिक के वृद्ध आजमीन के साथ अगर घर में कोई महरम के तौर पर पहले हज कर चुके लोग जाना चाहते हैं तो वो रिपीटर कहे जाएंगे। रिपीटर को अलग से 38 हजार रुपये जमा करने होंगे, तभी वो हज पर जा सकेंगे। यही नहीं, रिपीटर तभी महिला के साथ हज पर जाएंगे जब घर में कोई ऐसा महरम शख्स नहीं होगा जो पहले हज पर नहीं गया है। कुल मिलाकर एक शख्स को हज कमेटी एक ही बार हज कराएगी।

झूठी सूचना दी तो जब्त होगी रकम
अगर किसी आजमीन ने हज के फॉर्म में अपनी उम्र आदि के बारे में गलत सूचना दी उसका हज का सफर रद कर दिया जाएगा। यही नहीं, अगर वो शख्स जहाज में बैठ गया है तो भी उसे उतार दिया जाएगा और उसका किराया जब्त कर लिया जाएगा। यही नहीं, गलत सूचना देने वाले आजमीन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

हज का फॉर्म जमा करने की आखिरी तारीख आज
आगामी हज के सफर जाने के लिए फार्म भरने की बुधवार को आखिरी तारीख है। हज के फार्म ऑनलाइन भरे जा रहे हैं। जमशेदपुर में मदरसा फैजुल उलूम और साकची जामा मस्जिद स्थित दफ्तरों में जाकर हज के फार्म भर सकते हैं। यहां ऑनलाइन फार्म भरने में आजमीन की मदद की जा रही है।

Posted By: Arti Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप