तिरुवनंतपुरम, प्रेट्र। पथानमथिट्टा जिले के पंडालम कस्बे में हजारों लोग जमा हुए। ये लोग सालाना मकरविलाक्कू उत्सव के लिए पंडालम वालियाकोइकाल सास्था मंदिर से सबरीमाला ले जाने वाले तिरुवाभरणम (पवित्र आभूषण) के प्रदर्शन में भाग लेने पहुंचे थे। ये आभूषण भगवान अयप्पा के लिए भेजे जा रहे हैं।

पंडालम में श्रांबिकाल पैलेस से शनिवार सवेरे तिरुवाभरणम को समीप के वालियाकोइकाल मंदिर ले जाया गया। जहां श्रद्धालुओं के दर्शन के बाद पवित्र आभूषणों को लकड़ी के तीन बक्सों में रख दिया गया। 22 सदस्यीय टीम यहां से तीनों बक्से सबरीमाला ले जाएगी। कुलातिनाल गंगाधरन पिल्लई इस टीम की अगुआई करेंगे। मंदिर के मुख्य पुजारी ने सास्था मंदिर में स्वामी शरणम का उच्चारण करते हुए विशेष पूजा की।

पंडालम शाही परिवार के सबसे बुजुर्ग सदस्य ने आभूषण के साथ जाने वाले शाही प्रतिनिधियों को औपचारिक रूप से तलवार सौंपी। प्रदर्शन शुरू होने से पहले शाही प्रतिनिधियों को पालकी में करीब के काइपुझा पैलेस ले जाया गया। पहली रात टीम अयरूर पुतियाकावु देवी मंदिर में रुकेगी और दूसरी रात लाहा में विश्राम करेगी। 14 जनवरी को टीम सुबह पांच बजे सरामकुथी और सुबह छह बजे सन्निधानम पहुंचेगी। भगवान अयप्पा के लिए ले जाए जा रहे पवित्र आभूषण की रक्षा के लिए राज्य सरकार ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing