मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बहराइच (ब्युरो)। धर्म के सहारे लोगों को पृथ्वी बचाओ अभियान से जोड़ने की कोशिश के लिए युवाओं ने अनूठी पहल शुरू की। महसी ब्लॉक के गोड़वा गांव में यह नजारा देखने  को मिला। यह प्रयास रंग भी लाने लगा है। यहां युवाओं ने विवाह में सात फेरे लेने से पहले पौधरोपण करने का संकल्प लिया है। ईको मैनेजमेंट की यह नई पहल पर्यावरण संरक्षण के लिए मिसाल बन गई है।

इसकी शुरुआत विश्व पर्यावरण दिवस पांच जून को दूल्हा बने रामकुमार त्रिपाठी के बेटे संजय त्रिपाठी ने की है। जहां चारों ओर पर्यावरण को बचाने के लिए गोष्ठियां आयोजित कर रैली निकाली जा रही हैं। पौधरोपण के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। वहीं गोड़वा गांव के लोगों ने पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लेकर एक नई मुहिम की शुरुआत की है। संजय की सोमवार को शादी थी। दूल्हे के रूप में वे सज-धज कर तैयार हुए। बरात जाने से पहले गांव के युवाओं व अन्य लोगों के साथ खेत में पहुंचे। पौधरोपण किया और पर्यावरण सुरक्षा का संकल्प लिया।

गांव के युवा,अधेड़ व बुजुर्ग लोगों ने भी दूल्हे के इस कार्य में हाथ बंटाया और एक साथ संकल्प लिया कि गांव में किसी के भी बेटे की शादी होगी तो बरात जाने से पहले दूल्हा पौधरोपण करेगा। फिलहाल संजय के इस पहल की चर्चा चारों ओर है। शिक्षक दिलीप त्रिपाठी, घनश्याम त्रिपाठी, पूर्व प्रधान अमरेज सिंह, अश्वनी, जेपी त्रिपाठी, लल्लन, शुभम, विजय कुमार त्रिपाठी ने कहा कि युवाओं का यह कदम बेहद सराहनीय है। बुद्धिजीवियों ने युवाओं द्वारा छेड़ी गई पर्यावरण संरक्षण की इस मुहिम में पूरे सहयोग का वादा भी किया।

-संजय सिंह

-शादी के इस शुभ अवसर पर एक दूसरे के होने से पहले पौधरोपण का संकल्प
-बुद्धिजीवियों ने छेड़ी गई इस मुहिम में सहयोग का वादा भी किया

यह भी पढ़ें : संकल्प के आगे झुकी विंध्याचल की पहाड़ी

Posted By: Srishti Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप