जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय और उससे संबंद्ध कालेजों में छात्रसंघ चुनाव की प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है। 26 अगस्त को मतदान होगा। वहीं 27 अगस्त को मतों की गिनती होगी। चुनाव परिणाम जारी होने के बाद नव निर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ दिलवाई जाएगी। बुधवार से चुनाव की आचार संहिता लागू की गई है। अब विश्वविद्यालय और कालेज प्रांगण में पोस्टर,बैनर,होर्डिंग्स लगाने व रैली निकालने पर रोक रहेगी । चुनाव खर्च की सीमा भी पांच हजार रुपये तय की गई है। कांग्रेस के अग्रिम संगठन भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन और भाजपा से जुड़े अखिल भारतीय विधार्थी परिषद ने प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उम्मीद है अगले दो दिन में प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए जाएंगे।

छात्र कल्याण अधिष्ठा विक्रम सिंह ने बताया कि आचार संहिता लागू होने के बाद अब प्रवेश प्रक्रिया पर रोक लगा दी गई है। अब विश्वविद्यालय व कालेजों के किसी भी संकाय में नये प्रवेश नहीं हो सकेंगे । मतदाता सूची शीघ्र प्रकाशित होगी । तय नियमों के अनुसार चुनाव लड़ने वाले छात्र नेता की कक्षा में 75 फीसदी उपस्थिति आवश्यक है। उसके खिलाफ किसी तरह का आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं होना चाहिए।

छात्र संघ चुनाव में छात्र नेता ने चाकू से काटी हथेली 

राजस्थान विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में 26 अगस्त को मतदान होना है। छात्र नेता चुनाव जीतने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। छात्र नेताओं में जोश ऐसा है कि छात्रों की समस्याओं को हल करवाने के लिए हथियार से खुद पर वार कर रहे हैं। ऐसा ही मामला बुधवार को सामने आया है। यहां छात्र संघ चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे छात्र नेता लोकेंद्र सिंह ने बुधवार को अपने समर्थकों के साथ विश्वविद्यालय परिसर में सभा की । सभा को संबोधित करते हुए लोकेंद्र ने चाकू से खूद के हाथ की हथेली को काट लिया। खून निकलता देख छात्र उसे उकसाते रहे । उसके समर्थक नारेबाजी करते रहे । लोकेंद्र के हाथ से खून गिरता रहा । यह देख मौके पर माजूद पुलिसकर्मी उसे पास के ही अस्पताल में लेकर गए, जहां प्राथमिक उपचार किया गया।

लोकेंद्र हथेली काटकर अपने समर्थकों के साथ छात्राओं को निशुल्क शिक्षा दिलाने, जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग में स्थाई फैकल्टी लगाने और छात्रों की समस्याओं का समाधान करवाने का विश्वास दिला रहा था। लोकेंद्र ने कहा कि मैने छात्रों की मांग को लेकर कई बार सरकार को खून से पत्र लिखा है। कई बार रक्तदान किया है। हथेली काटकर मैने यह साबित किया है कि मैं छात्रों के हितों के लिए खून बहाने से भी पीछे नहीं हटूंगा । उधर छात्र कल्याण अधिष्ठा विक्रम सिंह ने कहा कि यह घटनाक्रम नियमों के खिलाफ है। लोकेंद्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Shashank_Mishra