चेन्नई, एएनआई। मानसून की विदाई होने के बाद भी तमिलनाडु व केरल के कई इलाकों में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। दक्षिण भारत में बारिश ने उत्पात मचा रखा है। कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी है और हालात बाढ़ जैसे हो गए हैं। भारी बारिश की वजह से कई नदियां उफान पर हैं। सबसे बुरा हाल उत्तरी कर्नाटक और तमिलनाडु का है, बारिश की वजह से तमिलनाडु के रामनाथपुरम के सभी स्कूल-कॉलेज आज बंद कर दिए गए हैं। इसके साथ ही तमिलनाडु और केरल में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी है।

तमिलनाडु के कई प्रभावित जिलों में पानी निचले इलाकों में स्थित घरों और स्कूलों सहित सरकारी इमारतों में घुस गया है। तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले में स्कूल बंद कर दिए गए हैं। राज्य में एक बार फिर भारी बारिश यहां कहर बनके आई है।

बता दें कि देश के ज्यादातर हिस्सों में आने वाला दक्षिण पश्चिम मानसून अपने निर्धारित समय पर आया और जमकर बरसा। 15 अक्टूबर के आसपास विदा हो गया, लेकिन इस दौरान पूर्वोत्तर और दक्षिणी राज्यों में सामान्य से कम बारिश हुई थी। मौसम विभाग के जारी बुलेटिन के मुताबिक आने वाले चार-पांच दिनों में कई जगहों पर अच्छी बरसात होने की संभावना है। दक्षिणी राज्यों के साथ अगले एक-दो दिनों के भीतर महाराष्ट्र के विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कोंकण क्षेत्र और गोवा में भारी से अति भारी बारिश होने की संभावना है। जबकि पूर्वी राज्यों में ओडिशा और झारखंड में भी दिवाली से पहले अच्छी बारिश होने का अनुमान लगाया गया है।

केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक में भारी बारिश

पश्चिम मानसून की बरसात से चूके क्षेत्रों में अब दूसरे चरण के मानसूनी बादल जमकर बरस रहे हैं। इससे पूर्वोत्तर समेत दक्षिणी राज्यों में सामान्य से अधिक बरसात हो रही है। पूर्वोत्तर मानसून की सक्रियता से केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश समेत पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में भारी बारिश हो रही है। इन राज्यों में पिछले कई सालों से मानसून के दूसरे चरण में बारिश सामान्य से बहुत कम होती रही है।

क्यों हो रही है बारिश

इसके चलते दक्षिणी राज्यों में भूजल का स्तर बहुत नीचे चला गया था। इससे पेयजल का गंभीर संकट पैदा हो गया था। भारतीय मौसम विभाग के जारी बुलेटिन के मुताबिक तमिलनाडु से लगी बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने लगा है। इसी तरह अरब सागर में भी चक्रवाती तूफान की स्थिति बनने से निम्न दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इसके चलते महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में भी बारिश हो रही है।

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप