चेन्नई, एएनआइ। तमिलनाडु के जिला अस्पताल की लापरवाही सामने आई है। दरअसल, विल्लुपुरम जिला अस्पताल से चार कोरोना वायरस के मरीजों को छुट्टी दे दी है। इस गलती के चलते तीन मरीज को तो पुलिस ने ट्रैक कर लिया है, लेकिन चौथा मरीज अभी लापता है।अस्पताल की तरफ से सकारात्मक रोगियों को एक नकारात्मक परीक्षण प्रमाण पत्र सौंपकर छुट्टी दे गई थी।  

विल्लुपुरम पुलिस अधीक्षक एस जयकुमार ने बताया कि शाम को 26 रोगियों के परीक्षण के परिणाम आए थे, जिनमें से चार सकारात्मक थे। बाद में गलती से इन चार रोगियों को नकारात्मक प्रमाण पत्र दिया गया। जयकुमार ने कहा कि पुलिस ने अस्पताल छोड़ने के बाद तीन मरीजों को ट्रैक और सुरक्षित करने में कामयाबी हासिल की। उन्होंने कहा कि चौथा मरीज दिल्ली से नहीं आया है। अधीक्षक ने कहा कि चौथे मरीज को ट्रैक करने के लिए पांच विशेष टीमों का गठन किया गया है।

देश इस वक्त कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है। इस वक्त देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगा हुआ है। ऐसे में सभी लोग अपने घरों में कैद है। देश में इस वक्त कोरोना कें सक्रमण से 150 से ज्यादा  लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं संक्रमित लोगों का आंकड़ा 5 हजार के पार पहुंच गया है। आशंका जताई जा रही है कि कोविड-19 बढ़ते प्रसार को देखते हुए 21 दिनों का लॉकडाउन बढ़ भी सकता है। 

चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। ऐसे में सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि 200 से ज्यादा देश परेशान हैं। वैश्विक स्तर संक्रमितों का आंकड़ा 15 लाख के करीब पहुंच चुका है। वहीं मरनेवालों का आंकड़ा 70 हजार से ज्यादा पहुंच गया है। इस वायरस की चपेट में सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी आ गया है। इस वायरस से इटली और स्पेन भी सबसे ज्यादा प्रभावित है। ऐसे में सभी लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी जा रही है।

 

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस