सूरत, जेएनएन। सूरत के तक्षशिला इमारत में लगी आग इतनी भीषण थी कि इसकी चपेट मेें आने से 20 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई है, जबकि 20 से ज्यादा बच्चों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। मामले में गुजरात पुलिस ने कोचिंग सेंटर चलाने वाले एक व्यक्ति समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

गुजरात पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा ने बताया कि मामले में अब-तक तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईर में 2 बिल्डर और कोचिंग सेंटर का संचालन करने वाले व्यक्ति का नाम शामिल है। पुलिस ने बताया कि कोचिंग क्‍लास का मालिक भार्गव बुटाणी को देर रात पकड़ लिया है, जबकि बिल्‍डर व भवन मालिक हेतुल वेरडिया, जिज्ञेश पगडालू अभी फरार हैं।

वहीं, हादसे के अहमदाबाद, राजकोट शहरों में चल रहे अनाधिक्रत कोचिंग सेंटरोंं पर एहतियात के तौर पर रोक लगा दी है। इन शहरों में प्रशासन ने कलासेज में सुविधाओं व सुरक्षा उपायों की जांच भी शुरु कर दी है। केवल मान्‍यता प्राप्‍त शिक्षण संस्‍थान ही क्‍लासेज चला सकेंगे। 

सरकार ने कहा है कि फायर ब्रिगेड की एनओसी के बिना अब इनका संचाल‍न नहीं किया जा सकेगा। अब तक अहमदाबाद में 700 स्‍थलों की जांच की गई, जिनमें से 300 स्‍थलों पर फायर सुरक्षा की कोई सुविधा व उपकरण नहीं पाए गए।

इससेे पहलेे हादसे पर दुख जताते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात सरकार से हर संभव मदद देने को कहा है। गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। साथ, ही मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपये का मुआवजेेका एलान किया गया है। हादसे के बाद सीएम रूपाणी घायल लोगों से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे।

बता दें कि गुजरात के सूरत में शुक्रवार को तक्षशिला कॉम्प्लेक्स की दूसरी मंजिल पर स्थित एक कोचिंग सेंटर में भीषण आग लग जाने से अफरातफरी मच गई। इस दौरान आग और धुएं से बचने के लिए कुछ छात्रों ने तीसरी और चौथी मंजिल से कूदकर जान बचाई। आग की चपेट में आने से करीब 20 छात्रों की मौत हो गई। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप