जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोमवार को कहा कि आसाराम को बोगस मामले में फंसाने का षड़यंत्र कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से रचा गया था। उन्हीं के इशारे पर आसाराम को गिरफ्तार किया गया था।

नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोप में दो साल से जोधपुर जेल में बंद आसाराम के साथ एक घंटे की मुलाकात के बाद स्वामी ने कहा कि दीपावली के बाद मैं एक बार फिर उनकी तरफ से पैरवी करने जोधपुर आऊंगा। उन्होंने दावा किया कि आसाराम के खिलाफ केस खारिज हो जाएगा।

जेल के बाहर मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि आसाराम ने गुजरात में धर्मांतरण के खिलाफ जोरदार अभियान चलाया था। कई लोगों को ईसाई धर्म अपनाने से रोकने में आसाराम की अहम भूमिका रही। इससे खफा सोनिया गांधी ने आसाराम के खिलाफ षड़यंत्र रच उन्हें गिरफ्तार कराया था।

कॉल डिटेल देने से इनकार

राजस्थान हाई कोर्ट ने आसाराम की ओर से दायर आपराधिक याचिका खारिज करते हुए पीड़िता और उसकी मां की कॉल डिटेल देने से इनकार कर दिया है। याचिकाकर्ता आसाराम की ओर से विविध आपराधिक याचिका दायर कर सेशन न्यायालय के गत 19 जून के आदेश को चुनौत दी गई थी।

पढ़े: हाथ जोड़कर मुस्कराते हुए आगे बढ़ गए आसाराम

Edited By: Test1 Test1