नई दिल्ली, एएनआइ। कोरोना वायर जैसी महामारी से जहां देश जूझ रहा है। वहीं दूसरी तरफ लोग मुश्किल की इस घड़ी में कई लोग अपनी जमा पूंजी देश की सेवा के लिए PM Care Fund में दान कर रहे हैं। ऐसे में मिसाल पेश की है एक शहीद जवान की पत्नी ने। दरअसल, 1965 के युद्ध में अपनी जान गंवाने वाले शहीद सैनिक की 82 वर्षीय विधवा ने  पीएम केयर फंड में 2 लाख रुपये दान दिए हैं।  चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने सभी से महिला का उदाहरण देते हुए अनुसरण करने का आग्रह किया है।

82 वर्षीय दर्शनी देवी जिनके पति सेना में हवलदार थे और 1965 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में शहीद हुए थे उन्होंने अपनी बचत से 2 लाख रुपये PM CARES फंड में दान कर दिए। उसने उत्तराखंड में अगस्त्यमुनि शहर के पास अपने गांव में स्थानीय अधिकारियों के माध्यम से दान किया। 

महिला के  इस कदम की प्रशंसा करते हुए, सीडीएस जनरल रावत ने कहा कि यह वह सेना है, जो अतीत की थी और यही वह सेना होगी जिस पर हमें भविष्य में गर्व होगा, जिस बदलाव के साथ हम इसे हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं। 

सीडीएस ने कहा कि हमें श्रीमती दर्शनी देवी पर गर्व है। हममें से बहुत से लोगों ने उनके द्वारा पेश किए गए इस उदाहरण का पालन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भले ही हम योगदान नहीं दे सकते हैं लेकिन, हमें कम से कम अपने करों का भुगतान तो करना ही चाहिए और न ही करों से बचने का साधन ढूंढना चाहिए। जानकारी के लिए बता दें कि जनरल रावत सेना में कई वर्षों से काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कर लाभ केवल योग्य अधिकारियों और पुरुषों द्वारा ही टैक्स बेनेफिट लिया जाए और जिनके लिए विकलांगता पेंशन सुविधा बनाई गई थी उन सभी तक उसका लाभ पहुंचे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप