रोम [रायटर]। भारत के पहले पूर्ण जैविक राज्य सिक्किम ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र समर्थित फ्यूचर पॉलिसी अवार्ड जीता। पुरस्कार आयोजकों के मुताबिक, राज्य की नीतियों से जहां 66,000 किसानों को फायदा हुआ है। वहीं पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही अन्य देशों के लिए उदाहरण भी प्रस्तुत किया है।

बता दें कि रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों को खत्म करने के साथ ही उनके स्थान पर स्थायी विकल्पों को प्रतिस्थापित करने पर सिक्किम को 2016 में देश का पहला जैविक राज्य घोषित किया गया था।

पुरस्कार का सह आयोजन करने वाली संस्था खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) की उपमहानिदेशक मारिया हेलेना सेमेडो ने कहा कि यह पुरस्कार भूख, गरीबी और पर्यावरणीय गिरावट के खिलाफ राजनीतिक नेताओं द्वारा बनाई गई असाधारण नीतियों का सम्मान है। उन्होंने कहा कि सिक्किम के अनुभव से पता चलता है कि 100 फीसद जैविक खेती एक सपना नहीं है बल्कि वास्तविकता है।

दूसरा पुरस्कार तीन देशों में विभाजित किया गया है। स्कूल के भोजन के लिए खाद्य पदार्थो की खरीद संबंधी नीति तैयार करने के लिए जहां ब्राजील को सम्मानित किया गया है, वहीं अधिक जैविक खाद्य पदार्थो की खरीद संबंधी नीति बनाने पर डेनमार्क को सम्मान मिला है। साथ ही शहरी बागवानी को बढ़ावा देने के लिए एक्वाडोर की राजधानी क्विटो को भी सम्मानित किया गया है।

बता दें कि इससे पहले यह पुरस्कार मरुस्थलीकरण, महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ ¨हसा, परमाणु हथियारों और महासागरों के प्रदूषण के खिलाफ बनाई गई नीतियों को दिया गया था। इस साल यह पुरस्कार कृषि विज्ञान के लिए रखा गया था।

Posted By: Vikas Jangra