नई दिल्ली। हाईप्रोफाइल शीना बोरा हत्याकांड में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। इस हत्याकांड में कई पात्र हैं, जिनको लेकर रहस्य बना हुआ है। रिश्तों के मकड़जाल में उलझी इस हत्या की गुत्थी को मुंबई पुलिस सुलझाने में जुटी है। आइए जानते हैं इस हत्याकांड से जुड़े तमाम लोगों के बारे में।

इंद्राणी मुखर्जी : इंद्राणी मुखर्जी पर 24 अप्रैल 2012 को अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या का अारोप है। इंद्राणी उर्फ परी बोरा असम के गुवाहाटी की मूल निवासी है। उसके पिता का नाम उप्रेंद्र कुमार बोरा और मां का नाम दुर्गा रानी बोरा है। वह अपने माता-पिता की इकलौती संतान है। उसकी पढ़ाई-लिखाई गुवाहाटी के एक मिशनरी स्कूल में हुई थी। आगे की पढ़ाई उसने शिलांग में की। इंद्राणी की पहली शादी सिद्धार्थ दास नाम के शख्स से हुआ। उससे दो संतानें हुई- मिखाइल और शीना। इन दोनों बच्चे के जन्म के बाद इंद्राणी ने कोलकाता में होटल कारोबार से जुड़े संजीव खन्ना से की। उस शादी से उसे एक बेटी विधि हुई। विधि जब छह साल की थी तब इंद्राणी ने 2002 में स्टार इंडिया के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीटर मुखर्जी से शादी कर ली। बाद में दोनों ने मिलकर एक मीडिया संस्थान की नींव रखी, जिसककी इंद्राणी सीईओ बनी।

पीटर मुखर्जी : स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की इंद्राणी से दूसरी शादी है। पहली पत्नी शबनम से पीटर के दो बेटे हैं-राहुल और राजीव। पुलिस का मानना है कि पीटर को शीना की हत्या के बारे में पता था, जबकि पीटर का कहना है कि उन्हें यह बताया गया कि शीना अमेरिका में रह रही है।

मिखाइल बोरा : यह इंद्राणी का बेटा है और वह अपने नाना-नानी (इंद्राणी के माता-पिता) के साथ गुवाहाटी में रहता है। मिखाइल ने पहले यह बताया कि वह शीना की हत्या के बारे में नहीं जानता। उसे इंद्राणी द्वारा यही बताया जाता रहा कि वह अमेरिका में है। लेकिन बाद में उसने मुंबई पुलिस को बताया कि शीना के मर्डर वाले दिन वह मुंबई में था। उसका यह भी दावा है कि इंद्राणी और संजीव ने मिलकर, उसे भी मारने की कोशिश की थी। उसने बताया है कि उसके पास इंद्राणी के खिलाफ शीना की हत्या के सबूत हैं।

संजीव खन्ना : शीना हत्या मामले में दूसरा आरोपी है। वह इंद्राणी का पहला पति है। पुलिस के अनुसार जब शीना की हत्या हुई तब संजीव उस गाड़ी में मौजूद था और उसने हत्या में इंद्राणी का सहयोग किया। हालांकि अब तक ये साफ नहीं हुआ है कि संजीव ने इंद्राणी की मदद क्यों की, लेकिन मर्डर के पीछे एक थ्योरी ये भी है कि संजीव ने शीना की हत्या में साथ इसलिए दिया ताकि उसकी बेटी विधि को गुवाहाटी में इंद्राणी से लेकर पीटर मुखर्जी खानदान की दौलत मिले। संजीव को डर था कि अगर राहुल और शीना की शादी हो जाएगी तो विधि का हक मारा जाएगा।

श्याम राय : शीना हत्याकांड में तीसरा आरोपी है श्याम राय। यह इंद्राणी का ड्राइवर था। पुलिस के अनुसार इंद्राणी ने 10 लाख रुपये का लालच देकर श्याम को इस हत्या को अंजाम देने की योजना में शामिल किया था। आरोप के मुताबिक जिस कार में शीना की हत्या हुई वह कार श्याम ही चला रहा था और लाश को रायगढ़ की जंगल में ठिकाना उसने ही लगाया था।

राहुल मुखर्जी : यह पीटर मुखर्जी का बेटा है। वह शीना से प्यार करता था और दोनों एक साथ करीब डेढ़ साल तक लिव-इन में भी रहे थे। लेकिन दोनों के बीच रिश्ता इंद्राणी को पसंद नहीं था। पूछताछ में राहुल ने खुलासा किया कि शीना हत्या के वक्त गर्भवती थी।

विधि : यह इंद्राणी की दूसरे पति यानी संजीव खन्ना की बेटी है। पीटर से शादी के बाद इंद्राणी विधि को साथ लेकर रहती थी। बाद में उसे पढ़ाई के लिए विदेश भेज दिया गया।

शीना बोरा हत्याकांड से जुड़ी तमाम खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Bhardwaj