हुबली, एजेंसियां। कर्नाटक के हुबली में पाकिस्तान के पक्ष में नारेबाजी करने एवं देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए गए तीन कश्मीरी छात्रों को पुलिस ने बांड भरवाकर छोड़ दिया। हुबली के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई करने वाले तीनों कश्मीरी छात्रों पर पुलवामा आतंकी हमले की बरसी पर पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करने और उसका वीडियो सोशल मीडिया पर डालने के आरोप हैं। तीनों को शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। मालूम हो कि पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर भीषण आतंकी हमला हुआ था। इसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। 

हुबली-धारवाड़ के पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने कहा, छात्रों को दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 169 के तहत छोड़ा गया है। आरोपितों ने यह बांड भरा है कि जब भी उन्हें समन किया जाएगा, वे पुलिस के समक्ष उपस्थित होंगे। जांच अधिकारी सीआरपीसी की धारा 169 का इस्तेमाल तब करता है, जब आरोपित को कोर्ट में पेश करने लायक उसके पास पर्याप्त साक्ष्य नहीं होता। कश्मीरी छात्रों को जमानत दिए जाने संबंधी मीडिया रिपोर्ट पर पुलिस आयुक्त ने कहा कि वे भ्रमित हो गए हैं। यह मामला काफी संवेदनशील है और पुलिस इसे गंभीरता से ले रही है।

मालूम हो कि पाकिस्तान समर्थक और आजादी के नारे लगाने की शिकायतों को लेकर तीनों संदिग्धों से पूछताछ की जा रही थी। आरोप है कि छात्रों ने पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी पर पाकिस्तान समर्थित नारे लगाए थे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बेंगलुरू से 410 किलोमीटर उत्‍तर पश्चिम में स्थित हुबली की घटना के आरोप‍ियों की पहचान आमिर, बासित और तालिब के तौर हुई थी। तीनों छात्र कश्‍मीर के शोपियां जिले के रहने वाले हैं। केएलई इंजीनियरिंग कॉलेज (KLES Institute of Technology) में अध्ययनरत तीनों छात्रों के खिलाफ सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में आइपीसी की धारा 124 के तहत केस दर्ज किया गया था।  

कॉलेज के प्रिंसिपल बसवराज अनामी (Basavraj Anami) ने पुलिस से की गई शिकायत में बताया है कि प्रथम वर्ष के इन छात्रों को केंद्र सरकार के कोटे के तहत दाखिला मिला था। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह घटना उस वक्‍त हुई जब शुक्रवार को कॉलेज में पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी जा रही थी। पुलिस की ओर से दर्ज एफआइआर के मुताबिक, कार्यक्रम में भाग लेने के बजाए तीनों छात्र होस्‍टल में पाकिस्‍तान के समर्थन में नारेबाजी करते हुए वीडियो बना रहे थे।

शिकायत में कहा गया है कि प्र‍िंसिपल को इस वाकये का पता उस वक्‍त चला जब शनिवार को इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। आरोपियों ने खुद घटना का वीडियो अपने मित्रों के व्‍हट्सएप ग्रुप पर शेयर किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि कॉलेज ने आरोपी छात्रों को निलंबित कर दिया है। हुबली के रहने वाले राज्‍य के उद्योग मंत्री जगदीश शेट्टार (Jagadish Shettar) ने इस घटना पर कहा कि सरकार देश विरोधी ऐसी घटनाओं को कतई बर्दाश्‍त नहीं करेगी।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस