श्रीनगर। ब्यूरो/एजेंसी । दक्षिण कश्मीर के शोपियां व पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने गुरवार को करीब 20 गांवों में आतंकियों के खिलाफ साढ़े दस घंटे तक तलाशी अभियान 'ऑपरेशन क्लीनअप' चलाया। इस दौरान दो गांवों में सुरक्षाबलों को हिंसक ग्रामीणों पर काबू पाने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा। अभियान के दौरान सेना के दस्ते पर आतंकियों के हमले में एक नागरिक की मौत हो गई।

18 साल में पहली बार इतनी बड़ी कार्रवाई

वादी में 18 साल में किसी इलाके में एकसाथ एक दर्जन से ज्यादा गांवों की घेराबंदी कर तलाशी लेने का यह पहला मामला है। इस तरह के तलाशी अभियान 90 के दशक में होते थे। सुबह पांच बजे से दोपहर साढ़े तीन बजे तक इस अभियान के दौरान लगभग चार हजार सुरक्षाकर्मियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान सेना के हेलिकॉप्टर और ड्रोन गांवों के ऊपर मंडराते रहे। 30 आतंकियों का वीडियो वायरल हुआ था एसएसपी शोपियां ताहिर सलीम ने कहा कि जिन गांवों की तलाशी ली गई, वह जिला पुलवामा और शोपियां के अंतर्गत आते हैं। ये सभी गांव एक दूसरे से सटे हुए हैं। इन इलाके में विदेशी सहित दो दर्जन आतंकियों के छिपे होने की आशंका है।

यह भी पढ़ेंः 'असभ्य राष्ट्र बन चुका है पाकिस्तान, कुचलने के लिए सेना को देनी होगी खुली छूट'

30 आतंकियों का वीडियो वायरल 

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि जिन 30 आतंकियों का वीडियो वायरल हुआ था, उनमें से कुछ इसी इलाके में तीन दिन के भीतर देखे गए हैं। आतंकी ट्रेनिंग वाला वीडियो भी यहीं बना है।

दुर्दात आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसा, शरारती तत्वों ने किया पथराव

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम के खुडवनी क्षेत्र में गुरुवार को सुरक्षाबलों ने लश्कर के दुर्दात स्थानीय आतंकी जुनैद मट्टू को उसके साथी संग घेर लिया। इसी दौरान आतंकी को बचाने के लिए शरारती तत्वों ने सुरक्षाबलों पर पथराव शुरूकर दिया। फिलहाल आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हैं।जुनैद मट्टू हिजबुल मुजाहिदीन में भी सक्रिय रहा है।

जून 2016 में अनंतनाग में दो पुलिसकर्मियों की हत्या के अलावा श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षाबलों पर एक हमले की वारदात में भी वह लिप्त रहा है। दो दर्जन से ज्यादा आतंकी वारदातों में वांछित जुनैद के जिंदा अथवा मुर्दा पकड़े जाने पर पांच लाख का इनाम है। आतंकियों ने जवानों पर गोली भी चलाई। जवानों ने जवाबी फायर किया। रात आठ बजे तक रुक-रुककर फायरिंग होती रही। स्थानीय लोग दोनों आतंकियों के भाग निकलने का दावा कर रहे थे।

यह भी पढ़ेंः कश्मीरी युवाओं को भड़का रहे हैं ये प्रतिबंधित सऊदी और पाकिस्तानी टीवी चैनल

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस