नई दिल्ली, एएनआइ। कोरोना वैक्सीन कोवैक्‍सीन और कोविशील्ड को बाजार में लाने की अनुमति के लिए और डाटा की जरूरत होगी। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (Drugs Controller General of India, DCGI) की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) की शुक्रवार को हुए बैठक में फिलहाल दोनों वैक्सीन को बाजार में लाने की अनुमति नहीं दी गई। अब अगली बैठक में इसपर फैसला हो सकता है।

बता दें कि कमेटी ने दोनों वैक्सीन की टेस्टिंग से जुड़े सभी डाक्यूमेंट की जांच की। बीते एक साल में वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स की भी समीक्षा की गई। दोनों ही वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी है लेकिन अभी इसे बाजार में उतारने के फैसले पर सहमति नहीं बन सकी। SEC अगली बैठक में इसपर फैसला ले सकती है जो संभवत: अगले सप्ताह होनी है। SEC में डोमेन के विशेषज्ञों को शामिल किया गया है जो इम्यूनोलाजी, माइक्रोबायोलाजी, मेडिसीन्स, पल्मोनालाजी (pulmonology) आदि क्षेत्रों से संबंध रखते हैं। इन सभी ने वैक्सीन की सुरक्षा समेत तमाम पहलुओं की समीक्षा की और तब इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी।

SII ने कोविशील्ड को बाजार में मंजूरी दिलाने के लिए 2021 के दिसंबर में आवेदन किया था और इससे दस दिन पहले भारत बायोटेक ने भी आवेदन डाला था। बाजार में मंजूरी मिलने का मतलब है कि इन दोनों को बिना किसी रिजर्वेशन और शर्त के ही इस्तेमाल किया जा सकेगा। भारत बायोटेक ने अब व्यस्कों व बच्चों के लिए कोवैक्सीन को यूनिवर्सल वैक्सीन बताया है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया व भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन की दो खुराक पर्याप्त होती है और दोनों वैक्सीन की रख-रखाव के लिए 2-8 डिग्री सेल्सियस तापमान जरूरी होता है।

Edited By: Monika Minal