नई दिल्ली, एजेंसियां। कोरोना के मामले कम होने का असर अब दिखने लगा है। देश में कम से कम छह राज्यों ने हाल ही में कोविड-19 दिशानिर्देशों के साथ स्कूलों को धीरे-धीरे फिर से खोलने की घोषणा की है। केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों में स्कूलों को फिर से खोलने के फैसले की सराहना की है। केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार ने कहा कि जिन राज्यों में कोविड -19 मामलों की संख्या अधिक है, वे स्थिति का ठीक से विश्लेषण करेंगे और भविष्य में आवश्यक निर्णय लेंगे। कोरोना महामारी के कारण देशभर में स्कूल मार्च 2020 में बंद कर दिए गए थे।

उत्तर प्रदेश में प्राथमिक विद्यालयों में बच्चे पहुंचे तो गेट पर ही शिक्षकों ने उनकी आरती उतारी तो कहीं माला भी पहनाई। परिसर में गुब्बारे, झालर व झंडियों से लकदक विद्यालय देख बच्चे गदगद थे। पहले दिन स्कूलों में बच्चों की संख्या कम रही, वजह दो पाली में बुलाना भी रहा।

दिल्ली में भी बुधवार को 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के स्कूल खोले गए। हालांकि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि अगर कोरोना मामले बढ़ते हैं और जरूरत पड़ी तो आधे घंटे में स्कूलों को बंद कर दिया जाएगा। इसी तरह राजस्थान में नौवीं से 12वीं और मध्य प्रदेश में छठी से आठवीं कक्षा तक के स्कूल बुधवार से खोल दिए गए।

हरियाणा में चौथी और पांचवीं कक्षा के लिए बुधवार को स्कूल फिर से खुल गए और जिन छात्रों के माता-पिता ने लिखित में अनुमति दी थी, उन्हें ही स्कूल आने की अनुमति दी गई है। राज्य ने एक महीने पहले कक्षा 9 से 12 के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी थी। अधिकारियों ने कहा कि हालांकि, छात्रों के लिए स्कूलों में आना अनिवार्य नहीं किया गया है क्योंकि ऑनलाइन कक्षाएं भी जारी हैं।

कोरोना गाइडलाइनस् का पालन करते हुए राजस्थान में कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए बुधवार को स्कूल फिर से खुल गए हैं। राज्य में कोरोना की बेहतर स्थिति को देखते हुए राजस्थान प्रशासन ने 1 सितंबर से छात्रों के लिए स्कूलों में शारीरिक कक्षाओं की अनुमति दी है।

मध्य प्रदेश में कोरोना के मामलों में उल्लेखनीय गिरावट के साथ कक्षा 6 से 12 के स्कूलों को 50 प्रतिशत की उपस्थिति के साथ खोल दिया है। मध्य प्रदेश में नौवीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल पूर्व में ही खोल दिए गए थे।

छत्तीसगढ़ में दो सितंबर से छठवीं, सातवीं, नौवीं और 11वीं कक्षा के स्कूल खुले जाएंगे। आठवीं, 10वीं और 12 वीं कक्षा के साथ ही कालेज दो अगस्त को ही खोल दिए गए थे।

लद्दाख के कारगिल जिले में छठी से आठवीं कक्षा तक के स्कूल भी बुधवार को खुल गए। इस जिले में नौवीं से 12वीं तक के स्कूल को गत दो अगस्त को ही खोले जा चुके हैं।

बंगाल सरकार दुर्गापूजा के आयोजन के बाद स्कूल खोलने पर विचार करेगी।

तेलंगाना और तमिलनाडु में भी कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए स्कूल खोले गए।

Edited By: Manish Pandey