नई दिल्‍ली (जेएनएन)। देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर के चलते कई राज्‍यों ने एहतियाती कदम उठाते हुए सख्‍त पाबंदियां लागू की हैं। देश में बीते कुछ दिनों से लगातार कोरोना के तीन लाख से अधिक मामले दर्ज किए जा रहे हैं। इसको देखते हुए जहां पाबंदियां बढ़ी हैं वहीं टीकाकरण का भी विस्‍तार किया गया है। 15-18 वर्ष के आयुवर्ग के अलावा 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को बूस्‍टर डोज देने का भी काम शुरू हो चुका है। इस बीच कुछ राज्‍यों में जहां कोरोना के मामले कम हुए हैं तो वहीं कुछ राज्‍यों में बढ़े भी हैं। इसको देखते हुए राज्‍यों ने कुछ ढिलाई देने और कुछ अधिक सख्‍ती करने का भी एलान किया है। देश में बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने भारत से और भारत के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 28 फरवरी तक के लिए निलंबित कर दिया है।

राज्‍यवार जानते हैं कहां की क्‍या है ताजा स्थिति :- 

दिल्‍ली में कोरोना के मामलोंं में आई कमी के बावजूद सब कुछ सामान्‍य करने की तरफ कदम नहीं बढ़ाया गया है। दिल्‍ली में वीकेंड कर्फ्यू फिलहाल जारी रहेगा। इसी तरह से वीकेंड कर्फ्यू वाले दिनों में मैट्रो ट्रेन के परिचालन की अवधि 15-20 मिनट के अंतराल की होगी। बता दें कि दिल्ली मेट्रो में सभी सीटों पर बैठकर यात्रा करने की अनुमति पहले से ही दी जा चुकी है। लेकिन खड़ा होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं है। ऐसा करने पर यात्री को जुर्माना भरना पड़ सकता है। इसके अलावा बाजारों में सम-विषम आधार पर दुकानें खोलने की अनुमत‍ि है। जहां तक दिल्‍ली में स्‍कूलों को दोबारा खोलने की बात है तो शिक्षा मंत्री का कहना है कि छात्र-छात्राओं का सौ फीसद टीकाकरण होने के बाद स्‍कूलों को खोलने में मदद मिल सकेगी। 

उत्‍तर प्रदेश में कोरोना और ठंड की वजह से सभी सरकारी और निजी स्‍कूलों को 30 जनवरी तक के लिए बंद करने का आदेश पहले ही दे दिया गया है। इस बीच स्‍कूलों को आनलाइन क्‍लासेस करने की अनुमत‍ि दी गई है।वहीं, राज्‍य में विधानसभा चुनाव के लिए शिक्षक व शिक्षणेतर कर्मियों का विद्यालय आना अनिवार्य होगा। यहां पर पूरे राज्‍य में हर रोज रात्रि कर्फ्यू है।

महाराष्‍ट्र में सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने की इजाजत दे दी है। इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करने के आदेश भी दिए गए हैं। सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन में साफ किया गया है कि स्‍कूल में बच्‍चे केवल अपने पैरेंट्स की अनुमति के बाद ही आ सकेंगे। 

जम्मू कश्‍मीर में प्रशासन ने वीकेंड कर्फ्यू का एलान किया हुआ है। इस दौरान केवल जरूरी सेवाएं ही जारी रहेंगी और दूध-दही, फल-सब्जी, बेकरी व दवाई की दुकानें खुली रह सकेंगी। 

असम में कोविड-19 महामारी को देखते हुए गणतंत्र दिवस समारोह के लिए SOP जारी किया है। इसके अनुसार राज्य स्तरीय समारोह में केवल एक हजार और जिला स्तर पर आयोजित होने वाले समारोह में केवल 500 लोग ही शामिल हो सकेंगे। इस दौरान होने वाले कार्यक्रम में राष्ट्रीय ध्वजारोहण, विशिष्ट अतिथि द्वारा भाषण और औपचारिक परेड ही होगी। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम, पुरस्कार पुरस्कार वितरण जैसी अन्य गतिविधियों की इजाजत नहीं दी गई है। इस दौरान होने वाले कार्यक्रमों में स्‍कूली बच्‍चों की मौजूदगी नहीं होगी। परेड में भी केवल कोरोना रोधी टीके की दोनों खुराक लेने वाले जवान ही शामिल होंगे। 

तमिलनाडु में सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर 30 जनवरी को पूर्ण लाकडाउन का एलान किया गया है। इसके अलावा 1-20 फरवरी तक सभी कालेजों में सेमेस्टर परीक्षाएं आनलाइन आयोजित की जाएंगी। इसके बाद की स्थिति को ध्‍यान में रखते हुए कालेज खोलने के संबंध में फैसला लिया जाएगा। 

केरल में सरकार ने कोरोना का प्रसार रोकने के लिए 23 और 30 जनवरी को राज्‍यव्‍यापी लाकडाउन लगाने का एलान किया है। इस दौरान केवल अति आवश्‍यक सेवाएं ही जारी रहेंगी। इस दौरान माल, जिम, स्विमिंग पूल, समुद्री तट पर जाने की सख्त मनाही होगी। स्‍कूलों को बंद कर दिया गया है। 21 जनवरी से राज्‍य में केवल आनलाइन क्‍लासेस शुरू हैं।

गुजरात में सरकार ने राज्‍य के उन 17 शहरों में नाईट कर्फ्यू की घोषणा कर दी है जहां पर कोविड की सकारात्‍मक दर अधिक है। ये नाइट कर्फ्यू फिलहाल 29 जनवरी तक लागू रहेगा। 

बिहार में सरकार ने 6 फरवरी तक नाइट कर्फ्यू लागू किया है। इसके अलावा यहां पर कोविड-19 प्रोटोकाल के वही पुराने नियम लागू किए गए हैं जो दूसरी लहर के दौरान थे। 

Edited By: Kamal Verma