उज्जैन, राज्य ब्यूरो। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में रविवार से श्रावण मास का उल्लास शुरू हो जाएगा। प्रतिदिन पांच हजार भक्तों को अग्रिम बुकिंग के आधार पर भगवान महाकाल के दर्शन होंगे। जो श्रद्धालु दर्शन की अग्रिम बुकिंग नहीं करवा पाएंगे, वे सीधे मंदिर पहुंचकर 250 रुपये के शीघ्र दर्शन की टिकट खरीदकर दर्शन कर सकते हैं।

सोमवार को भगवान महाकाल की सात सवारी निकलेंगी, पहली सवारी 26 जुलाई को

श्रावण-भादौ मास में सोमवार को भगवान महाकाल की सात सवारी निकलेंगी। इस दौरान प्रत्येक सोमवार को भक्तों को सुबह छह से 11 बजे तक तथा शाम को सात से रात नौ बजे तक भगवान के दर्शन होंगे। पहली सवारी 26 जुलाई [ सोमवार ] को महाकाल की पहली सवारी निकलेगी। शाम चार बजे शाही ठाठ के साथ राजाधिराज महाकाल चांदी की पालकी में सवार होकर नगर भ्रमण के लिए रवाना होंगे।

कोरोना के चलते आम दर्शनार्थियों को सवारी मार्ग पर प्रवेश नहीं

कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए आम दर्शनार्थियों को सवारी मार्ग पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। श्रद्धालु मंदिर की वेबसाइट पर सवारी के ऑनलाइन दर्शन कर सकते हैं।

ओंकारेश्वर में भी तैयारियां, ऑनलाइन दर्शन

खंडवा जिले में स्थित ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में रविवार और सोमवार को दर्शन व्यवस्था आम दिनों से अलग रहेगी। दो हजार श्रद्धालु ऑनलाइन 300 रुपये का वीआइपी टिकट लेकर प्राथमिकता से दर्शन कर सकेंगे।

श्रद्धालुओं को टीकाकरण प्रमाणपत्र दिखाना होगा 

चार-चार हजार श्रद्धालुओं के लिए ऑनलाइन पंजीयन और टोकन लेकर दर्शन की सुविधा रहेगी। श्रद्धालुओं को टीकाकरण प्रमाणपत्र दिखाना होगा।

Edited By: Bhupendra Singh