भोपाल, नईदुनिया। शक्ति ने बंद कमरे में दुष्कर्म आरोपियों के खिलाफ बयान दर्ज करा दिए हैं। अपर-सत्र न्यायाधीश सविता दुबे की अदालत में बुधवार को लगभग आठ घंटे तक सुनवाई चली।

सुबह 11 बजे शक्ति अपने माता-पिता के साथ अदालत में उपस्थित हुई। इसके बाद शक्ति को न्यायाधीश कक्ष के अंदर बंद कमरे में बैठाकर बयान दर्ज कराए गए। इस दरम्यान अपर लोक अभियोजक रीना वर्मा ने उसके बयानों को सिलसिलेवार अदालत रिकॉर्ड में दर्ज करा दिया।

सुनवाई में चारों आरोपियों को भी अदालत में पेश किया गया था। शक्ति के माता-पिता ने भी अपने बयानों में सिलसिलेवार घटनाक्रम बयां किया। आरोपियों की ओर से वकील धनंजय तांबे और इन्दु अवस्थी ने सवाल-जवाब किए जो कि शाम पौने सात तक जारी रहे।

मामले में गुरुवार को भी सुनवाई जारी रहेगी। इस दरम्यान जीआरपी थाना प्रभारी भी अदालत पहुंचे थे। मामले की सुनवाई पूर्ण होने तक अदालत के चारों ओर पुलिस का कड़ा पहरा लगा रहा।

यह भी पढ़ें: हत्या के मामले में शक्ति नायडू गिरोह के तीन बदमाश गिरफ्तार