मोनाको। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मोनाको में इंटरपोल की 83वीं महासभा के संबोधन में पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला। उन्होंने संगठित अपराधियों व आतंकियों के सुरक्षित ठिकानों के खिलाफ दुनिया के सभी देशों को साथ आने को कहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नक्शेकदम पर चलते हुए राजनाथ सिंह ने महासभा को हिंदी में संबोधित किया।

उन्होंने कहा, ‘सभी देशों को आतंकी गतिविधियों को प्रायोजित करने, भड़काने, उन्हें सुविधा देने, आर्थिक मदद देने, प्रोत्साहित करने या फिर सहन करने से बचना चाहिए।’ आतंकवाद पर पश्चिमी देशों के रुख पर उन्होंने कहा कि पश्चिम देशों ने आतंक का दर्द तब जाना, जब 9/11 जैसी आतंकी वारदात हुई। भारत इस दंश को 1980 के दशक से ङोल रहा है। राजनाथ का बयान ऐसे समय आया है, जब अमेरिकी रक्षा विभाग ने संसद को बताया है कि पाकिस्तान भारतीय सेना का सामना करने के लिए आतंकी गुटों का इस्तेमाल कर रहा है।

राजनाथ सिंह ने याद दिलाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में ब्रिक्स सम्मेलन में कहा था कि उन देशों पर सामूहिक दबाव बनाने की जरूरत है, जो आतंकियों को सहयोग और शरण दे रहे हैं। उन्होंने इंटरपोल के 100 साल पूरे होने पर बधाई दी और कानून प्रवर्तन की दिशा में अंतरराष्ट्रीय सहयोग में योगदान की सराहना की।

पढ़ें : इंटरपोल का ब्रांड एंबेसडर बना यह 'डॉन'

पढ़ें : बाजार और रोजगार से जुड़ेगी अब हिंदी

Edited By: vivek pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट