नई दिल्ली, जेएनएन। देशभर में मौसम का अलग मिजाज है। दिल्ली-NCR समेत आसपास के राज्यों में भीषण गर्मी से लोगों का जनजीवन बेहाल है। वहीं, केरल के बाद महाराष्ट्र पहुंचा मानसून ने लोगों को घर में बंद होने को मजबूर कर दिया है। मुंबई समेत कई जिलों मेें भारी बारिश लोगों के लिए कहर बनकर आई है। लगातार हो रही बारिश की वजह से हालात बेहद खराब हो गए हैं।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने अगले 48 घंटे के लिए मुंबई में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। कहने का तात्पर्य यह है कि बाकी बचे राज्यों में भी मानसून जल्द दस्तक देगा और इसका अंदेशा मौसम विभाग ने भी लगाया है। ऐसे में देश को मानसून से होने वाली बीमारियों से भी बच कर रहना पड़ेगा।

दिल्ली मौसम विभाग ने बताया कि उत्तर पश्चिमी भारत में हरियाणा,चंडीगढ़, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, जम्मू- कश्मीर और मध्य प्रदेश के बचे हिस्सों में मॉनसून अगले 72 घंटों में पहुंच सकता है। वहीं, बताया गया कि यूपी और हिमाचल में अगले 2 दिन में अच्छी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा उत्तराखंड में भी बारिश की उम्मीद जताई गई है। हालांकि, मानसून अच्छी बारिश से गर्मी से तो पूरे देश को राहत दिला देगा, लेकिन इसके साथ ही कई तरह की बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाएगा।

मानसून का लेना है मजा तो रहे फिट
मानसून अपने साथ बहुत सारी खुशियां और बदलाव लाता है। चिपचिपाती गर्मी से राहत देता है और वातावरण हरा-भरा कर देता है। मानसून के समय मौसम का हाल लाजवाब हो जाता है। आसमान में छाए बादल दिल को सुकून देते है। 

हालांकि, मानसून के महीने में अगर आपको मजा लेने है तो पूरी तरह से फिट रहना बेहद जरूरी है। नहीं तो अगर तबियत बिगड़ गई तो अच्छे खासे दिनों में घर पर बैठना पड़ सकता है। बता दें कि मानसून के दौरान बीमारियां होना लाजमी हैं और फिट रहकर ही आप बीमारियों से बच सकते हैं। तो आइए जानते है मानसून में अपनी सेहत का ख्याल कैसे रखे...

मानसून में जरूरी चीजे रखें साथ
मानसून से बचने के लिए जरूरी चीजें हमेशा अपने साथ रखें। मानसून के महीने में बारिश का कोई भरोसा नहीं होता। अचानक होने वाली बारिश से बचने के लिए हमेशा अपने पास छाता रखें। घर से बाहर नकलें तो रेन-कोट रखना ना भूलें।

बाहर का खाने से बचें
बाहर ठेले पर मिलने वाले स्ट्रीट फुड गलती से भी ना खाएं। भले ही मस्त मौसम में बाहर की चीजें आपको जाएका देदे, लेकिन इसमें कई सारे कीटाणु होते हैं जो जल्दी बीमार करते हैं। कई बार तो बारिश का पानी तेल में भी मिल जाता है जो ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। इसलिए बाहर के खाने से बचें। यहां तक की बाहर पानी भी ना पिएं।

मच्छरों से बचें
मानसून में मच्छर का पनपना भी शुरू हो जाता हैं। ऐसे में कई सारी बीमारियां मच्छरों के वजह से होना शुरू हो जाती हैं। बरसात के मौसम में पानी के जमा होने से जो मच्छर पैदा होते है, वो बेहद ही खतरनाक होते हैं। घर में रखें खास ख्याल। कूलर के पानी को अच्छे से साफ करे और रोज पानी को बदलें।

बरसात में फलों का सेवन भी ध्यान से करें

  • मानसून के दौरान तरबूज, खरबूजा जैसे जलीय फलों के सेवन से बचें। नम प्रकृति के होने के कारण इनमें बैक्टीरिया होने की आशंका होती है, जो शरीर में सूजन पैदा करते हैं।
  • मानसून में गैर-मौसमी फलों के सेवन से बचें। इनमें अक्सर दिखाई न देने वाले कीड़े पाए जाते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए घातक होते हैं।
  • हमेशा ताजे फलों का सेवन करें। मुरझाए हुए, दागी, कटे-फटे फलों के सेवन से बचें, क्योंकि ऐसे फल विषाक्त हो जाते हैं और आपकी पाचन प्रक्रिया को प्रभावित करते हैं।
  • छिलका होने के बावजूद खाने से पहले फलों को अच्छी तरह जरूर धोएं, क्योंकि इनमें संक्रमण फैलाने वाले जीवाणु चिपके होते हैं, जो शरीर में पहुंच कर बीमारियों को न्यौता देते हैं।
  • कटे फल या फ्रिज में रखे बचे फल का सेवन न करें।
  • जहां तक हो सके बाजार में मिलने वाले फलों के जूस से बचें। सड़क किनारे बिकने वाले कटे फल के सेवन से भी बचें। 

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप