नई दिल्‍ली, ऑनलाइन डेस्‍क। Weather Forecast: पश्चिमी विक्षोभ के कारण भारत के कई हिस्‍सों में मौसम ने करवट ले ली है। शनिवार की शाम से ही यह बदलाव शुरू हुआ जो अभी बरकरार रहने के आसार हैं। कई इलाकों में ओलावृष्‍टि के साथ बारिश हुई। मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान में विक्षोभ का असर अभी बरकरार रहने की संभावना जताई गई है। फिर से आने वाले मजबूत पश्चिमी विक्षोभ के चपेट में पूरा उत्‍तर भारत यानि उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान, दिल्‍ली, हरियाणा और पंजाब आ रहा है। इस परिवर्तन के कारण मैदानी इलाकों में फसलों को नुकसान का खतरा है। 

जम्‍मू कश्‍मीर के उत्‍तरी हिस्‍से व इससे सटे अन्‍य क्षेत्रों पर पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव पड़ सकता है। अंतिम 24 घंटे में जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ओलावृष्‍टि के साथ बारिश भी हुई है। अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में एक-दो स्थानों पर बारिश और हिमपात हो सकता है।

पश्‍चिमी विक्षोभ के कारण राजस्‍थान के उत्‍तर पूर्वी इलाके पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बन रहा है। इससे बांग्‍लादेश और असम के दक्षिणी हिस्‍से भी प्रभावित होंगे। मध्य प्रदेश की बात करें तो इसके दक्षिण-पश्चिमी हिस्सों पर चक्रवाती क्षेत्र बन रहा है। स्‍काइमेट के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी मध्य प्रदेश में तेज हवाओं के साथ गरज व बारिश भी हुई। पूर्वी राजस्थान और दक्षिणी-मध्य महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हुई है। देश के बाकी हिस्सों में शुष्क मौसम बना रहा। देश के पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भागों में से एक या दो स्थानों पर मध्यम से घना कोहरा देखने को मिला।

बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, उत्तर आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और केरल के तटीय भागों में कुछ जगहों पर तेज़ हवाओं के साथ गरज के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं। उत्तर-पूर्वी राज्यों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों और उत्तर प्रदेश में एक-दो स्थानों पर मध्यम से घने कोहरे की संभावना है। 

पूर्वांचल में बादलों की आगे भी रहेगी सक्रियता, जानिए कैसा रहेगा आने वाले सप्‍ताह में मौसम का हाल

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस