जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। गुजरात चुनाव की जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राजनीतिक जमीन को चुनौती दे रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अब 'मेक इन इंडिया' के फ्लाप होने का दावा करते हुए पीएम पर सियासी वार किया है। गुजरात में टाटा के नैनो कार प्लांट का उत्पादन गिरने की खबरों का हवाला देते हुए राहुल ने स्टार्ट अप इंडिया के बाद मेक इन इंडिया के भी धराशायी होने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी दावा किया कि नैनो प्रोजेक्ट की नाकामी के साथ ही गुजरात के करदाताओं के 33 हजार करोड़ रुपये भी इसमें बर्बाद कर दिए गए।
भाजपा के दिग्गजों की फौज जब गुजरात में तमाम जगहों पर मोदी के 'मन की बात' सुनकर प्रचार अभियान को नया तेवर दे रही थी, ठीक उसी दौरान राहुल ने ट्विटर के सहारे सियासी दांव चलाया। साणंद में नैनो प्लांट के क्षमता से बेहद कम उत्पादन की एक अखबार में प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए उन्होंने ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा, 'पीएम के खास मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट का हुआ अवसान। गुजरात के करदाताओं के 33 हजार करोड़ रुपये हुए इसमें स्वाहा। इसकी जवाबदेही किसकी है?' 
इस सवाल के जरिये कांग्रेस उपाध्यक्ष ने जवाबदेही साफ तौर पर पीएम पर डाली। गुजरात चुनाव के अपने अभियान के दौरान दो दिन पहले भी राहुल ने नैनो प्रोजेक्ट की कथित नाकामी का मुद्दा उठाया था। उनका कहना था कि नैनो परियोजना से स्थानीय गुजरातियों को कोई लाभ नहीं मिला है। न ही उन्हें नौकरियां मिली हैं। साणंद की सड़कों पर नैनो गाडिय़ां नहीं दिखने की बात भी राहुल ने की थी। ऐसे में नैनो प्लांट की उत्पादन क्षमता पर आई रिपोर्ट ने कांग्रेस उपाध्यक्ष को अपनी बात साबित करने का मौका दे दिया।
गुजरात चुनाव में विकास को अहम मुद्दा बना रही कांग्रेस के लिए सियासी विमर्श को आर्थिक-सामाजिक दायरे के अंदर रखना जरूरी है। इसीलिए कांग्रेस और राहुल अपने चुनाव अभियान के दौरान मोदी के गुजरात मॉडल के विकास पर सवाल उठा रहे हैं। जीडीपी में गिरावट से लेकर जीएसटी और नोटबंदी से कारोबार-कारोबारियों पर प्रतिकूल असर को कांग्रेस जमकर उछाल रही है।

 राहुल खुद सूरत समेत कई जगहों पर व्यापारियों से मिलकर गुजरात के चुनावी विमर्श को विकास और अर्थव्यवस्था के इर्द-गिर्द रखने की कोशिश कर रहे हैं। इसीलिए जब मन की बात के सहारे भाजपा नेताओं की फौज गुजरात के मैदान में रविवार को एक साथ उतरी तो राहुल ने कांग्रेस के भी मजबूती से डटे रहने का संदेश दिया।

यह भी पढें: 'सर्जिकल स्ट्राइक का जज्बा सिर्फ मोदी में'

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप