नई दिल्ली, एएनआइ। राफेल मुद्दे को लेकर प्रशांत भूषण और अन्य याचिकाकर्ताओं ने लिखित में तथ्य जमा किए। बता दें कि राफेल मामले में 14 दिसंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले के खिलाफ प्रशांत भूषण समेत अन्य याचिकाकर्ताओं ने पुनर्विचार याचिका दायर की थी।  

आपको बता दें कि 14 दिसंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील मामले में तमाम याचिकाओं को खारिज कर दिया था। इन याचिकाओं में फ्रांस से 36 जेट विमानों की खरीद प्रक्रिया और इंडियन ऑफसेट पार्टनर के चुनाव में मोदी सरकार द्वारा भारतीय कंपनी का फेवर किए जाने के आरोपों की जांच करने की मांग की गई थी।

कोर्ट ने इन याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा था कि खरीद में निर्णय लेने की प्रक्रिया पर संदेह का कोई कारण नहीं बनता है। साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि कोई पुख्ता सबूत नहीं है कि मामले में किसी निजी संस्था को फायदा पहुंचाया गया। कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ प्रशांत भूषण समेत अन्य याचिकाकर्ताओं ने रिव्यू पेटीशन दायर की थी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप