नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के हरदा में रेल हादसे में हुई 28 लोगों की मौत पर ब्लेम गेम शुरू हो गया है। कांग्रेस ने केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु को कठघरे में खड़ा कर दिया है। खराब मौसम के कारण बिगड़े हालात को अगर पहले ही भांप कर सुरक्षा के लिहाज से पुख्ता कदम उठा लिए जाते तो कई लोगों की जिंदगी बच सकती थी। हादसे में हुई मौतों का ठीकरा सुरेश प्रभु के सिर फोड़ा गया है।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सुरेश प्रभु की दूरदर्शिता पर सवाल उठाया है। खड़गे ने ट्वीट कर कहा है बारिश, सर्दियों या बाढ़ की स्थिति के दौरान रेलवे को अनिवार्य रूप से सावधानी बरतनी चाहिए। हरदा मध्य प्रदेश रेल हादसे में रेल मंत्री की दूरदर्शिता क्यों नहीं दिखी?

Posted By: Gunateet Ojha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप