मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कोलकाता [जागरण ब्यूरो]। बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पेट्रोल के दाम में बढ़ोत्तरी के खिलाफ कोलकाता में शनिवार को सड़क पर उतरेंगी। वह यादवपुर से हाजरा मोड़ तक पैदल मार्च करेंगी और एक जनसभा को भी संबोधित करेंगी।

इससे पहले पेट्रोल मूल्यवृद्धि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ममता ने कहा कि उनकी पार्टी इसका समर्थन नहीं करेगी। तृणमूल के साथ विचार-विमर्श किए बिना यह कदम उठाया गया है। इस तरह का निर्णय लेने से पहले संप्रग में शामिल सभी दलों से बातचीत की जानी चाहिए थी। ममता ने कहा कि कांग्रेस केंद्र में बहुमत में नहीं है लेकिन तृणमूल बंगाल में बहुमत में है। उनकी पार्टी मूल्यवृद्धि का विरोध करती आई है और भविष्य में भी करती रहेगी। गौरतलब है कि पेट्रोल के दाम बढ़ाए जाने के खिलाफ गुरुवार को भी तृणमूल कांग्रेस ने रैली निकाली थी। लेकिन उसमें ममता शरीक नहीं हुई थीं।

ममता दो जून तक इंतजार के मूड में

कोलकाता। पेट्रोल मूल्यवृद्धि समेत विभिन्न मुद्दों पर विरोध प्रदर्शन के बावजूद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फिलहाल 'वेट एंड वाच' की पॉलिसी अपना रही हैं। उन्हें इंतजार है प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कोलकाता आने का। ममता सीधे तौर पर मनमोहन के समक्ष अपनी बातें रखना चाहती हैं और उनका पक्ष जानने के बाद ही आगे की रणनीति तय करने के मूड में हैं। प्रधानमंत्री दो जून को कोलकाता के दौरे पर आने वाले हैं। इस दौरान वह ममता के साथ अलग से बात कर सकते हैं। ज्ञात हो कि इन दिनों कांग्रेस के साथ तल्खी बढ़ने के बावजूद प्रधानमंत्री के साथ ममता के अच्छे संबंध हैं इसलिए उनसे बातचीत से पहले वह आक्रामक नहीं होना चाहतीं। जबकि उन्होंने पिछले साल नवंबर में पेट्रो उत्पादों की वृद्धि के मुद्दे पर केंद्र सरकार को अल्टीमेटम दे दिया था।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप