मुंबई, पीटीआइ। मुंबई के रहने वाले एक युवक ने दिल्ली हिंसा के एक पुराने वीडियो को कथित रुप से पोर्ट करने के लिए पत्रकार राणा अय्यूब के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पत्रकार राणा आयूब के खिलाफ पुलिस शिकायत आवेदन दायर किया है।

 शिकायतकर्ता रमेश सोलंकी ने दावा किया कि वीडियो दो साल पुराना है और इसे अय्यूब ने समाज में नफरत फैलाने और दिल्ली हिंसा में और अधिक ईंधन जोड़ने के इरादे से पोस्ट किया था। अपनी शिकायत में, जिसे उन्होंने मंगलवार को ऑनलाइन दायर किया था, सोलंकी (50) ने राणा के ट्वीट और ट्विटर हैंडल @ranaayyub की एक तस्वीर भी अपलोड की।

शिकायतकर्ता ने कहा कि इस नफरत फैलाने वाले राणा अय्यूब के खिलाफ कार्रवाई करें। राणा अय्यूब द्वारा साझा किया गया वीडियो दो साल पुराना है और वो इस स्थिति में फिर से समाज में नफरत फैलाने और लोगों को उकसाने की कोशिश की है। शिकायत में आगे कहा गया कि राणा झूठी अफवाहों को पोस्ट करने और भारत सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रहीं हैं।  देश में सांप्रदायिक विद्वेष पैदा करने में सफल होने से पहले, उनके खिलाफ कार्रवाई कर, उसे गिरफ्तार और उसके (कानूनी) खिलाफ कानूनी कार्रवाई करना आवश्यक है।

मुंबई साइबर अपराध के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यदि आवश्यक हो तो वे किसी भी कार्रवाई करने का निर्णय लेने से पहले तथ्यों को सत्यापित करेंगे। उन्होंने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो हम शिकायत को आगे की जांच के लिए संबंधित पुलिस स्टेशन को रेफर कर देंगे। 25 फरवरी को ट्विटर हैंडल @RanaAyub पर पोस्ट की गई 45-सेकंड की एक वीडियो क्लिप में कुछ लोगों को एक केसरिया ध्वज और राष्ट्रीय तिरंगा लगाने की कोशिश करते हुए दिखाया गया है। इसी के साथ लिखा गया है कि अपनी प्रामाणिकता की पुष्टि करने के बाद इस वीडियो को पुनः पोस्ट करें।