नई दिल्‍ली, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019 के नतीजों के बाद अब देश के अलग अलग हिस्‍सों में भाजपा कार्यकर्ताओं के हत्‍या के मामले सामने आए हैं। सबसे सनसनीखेज वारदात यूपी के अमेठी में हुई है जहां स्मृति ईरानी के करीबी भाजपा कार्यकर्ता सुरेंद्र सिंह की हत्या कर दी गई है। यूपी के हापुड़ और पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनाड़ा में भी एक-एक कार्यकर्ता की हत्‍या कर दी गई है।  

अमेठी में शनिवार देर रात स्मृति ईरानी के पक्ष में चुनाव प्रचार में अहम भूमिका निभाने वाले भाजपा नेता पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर गई। इस हत्या की जानकारी मिलने के बाद स्मृति ईरानी अमेठी पहुंची और दिवंगत भाजपा कार्यकर्ता की अर्थी को कंधा दिया। वहीं भाजपा कार्यकर्ता एवं बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ हत्या व साजिश का मामला दर्ज किया है। अब तक सात से अधिक लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ हो रही है। 

उत्‍तर प्रदेश के हापुड़ के गांव करनपुर में घर के बाहर सो रहे भाजपा के पन्ना प्रमुख की शनिवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई। निकट में ही सो रहे मृतक के पुत्र ने शोर मचाया तो दोनों बदमाश जंगल की ओर भाग गए। गांव निवासी चंद्रपाल सिंह पुत्र पूरन सिंह भाजपा के पन्ना प्रमुख थे। उनके पांच पुत्र और एक पुत्री हैं। बताया जाता है कि देर रात दो बदमाश घटनास्‍थल पर पहुंचे और चंद्रपाल के पड़ोसी धर्मपाल के घर के बाहर लगे बिजली का बल्ब फोड़कर अंधेरा कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने चंद्रपाल को आवाज लगाई। आवाज सुनकर चंद्रपाल जैसे ही उठकर बैठे, बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। 

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनाड़ा में भी एक भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक का नाम चंदन साव (35 वर्ष) है। इससे पहले शुक्रवार की रात को नदिया के चाकदा में एक भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इन हत्याओं के लिए भाजपा ने तृणमूल पर आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि साव एक समय तृणमूल का सक्रिय कार्यकर्ता था। वह तृणमूल को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गया था जिसकी वजह से हत्या की गई है। वहीं पुलिस ने कहा कि राजनीतिक कारणों से हत्या की गई है यहा फिर अन्य किसी वजह से इसकी जांच की जा रही है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh