कोलकाता। बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड की जांच में जुटी पुलिस अब स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी की कोलकाता में घाटे में चल रही दो कंपनियों को बेचने की वजह तलाश रही है। इन कंपनियों को यहां के व्यवसायियों के हाथों बेचा गया था। पुलिस की नजर इन कंपनियों के खरीदारों पर जाकर टिक गई है। पुलिस को उम्मीद है कि यहां से भी इंद्राणी से जुड़े महत्वपूर्ण सुराग मिल सकते हैं।

खबर है कि महानगर के 26 सीआर एवेन्यू स्थित कार्यालय से पीटर व इंद्राणी ने साल 2007 में कारोबार शुरू किया था। कंपनी में पदभार ग्रहण करने वाले दो निदेशकों के नाम से कंपनियों को पंजीकृत कराया गया था। इंद्राणी मुखर्जी की न्यूज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को 2007 में शुरुआत के बाद से ही लगातार घाटे में दिखाया गया। वहीं, शुरुआती वर्षों में मुंबई के एक वकील निदेशक के रूप में इसे संभाल रहे थे।

बाद में कोलकाता के कारोबारी निकेत खेतान और पवन कुमार वैद को भी निदेशक मंडल में शामिल किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक, खेतान व वैद इंद्राणी की अन्य कंपनियों सरस्वती मीडिया, इंद्राणी इनकन, गंगा एक्जीक्यूटिव सर्च प्राइवेट लिमिटेड व यमुना रिक्रूटमेंट सर्विसेस का भी हिस्सा थे।

यह भी बताया गया है कि यह कार्यालय 46 सीआर एवेन्यू में स्थित इंद्राणी के दूसरे पति कारोबारी संजीव खन्ना के कार्यालय के पास ही स्थित है। साथ ही निदेशक मंडल में खन्ना भी शामिल थे। सूत्रों के अनुसार, पुलिस अब नुकसान में चल रही कंपनियों को दो व्यवसायियों द्वारा खरीदे जाने के पीछे की गुत्थी को समझना चाहती है और इसे लेकर पड़ताल में जुट गई है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manoj Yadav