मुंबई, एजेंसी। पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (Punjab and Maharashtra Co-operative ) बैंक के एक और अकाउंट होल्डर की मौत हो गई है। पीएमसी (PMC) के अकाउंट होल्डर मुरलीधर धरा (Muralidhar Dhara) की आज हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हो गई। इससे पहले भी बैंक के दो खाताधारकों गुलाटी और फत्तोमल पंजाबी की हार्ट अटैक की वजह से मौत हो चुकी है। परिवार के अनुसार वह पीएमसी बैंक में गड़बड़ी के खुलासे के बाद से ही तनाव में थे।

मुंबई के रहने वाले  51 वर्षीय संजय गुलाटी जेट एयरवेज के पूर्व कर्मचारी थे। जेट एयरवेज से नौकरी जाने के बाद पीएमसी बैंक घोटाला सामने आया। संजय गुलाटी का हार्ट अटैक से निधन हो गया। बैंक में उनके 90 लाख रुपये फंसे हुए है। संजय के बाद मुंबई के ही फत्तेमल पंजाबी की मंगलवार को हार्ट अटैक से मौत हो गई। 

याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पीएमसी बैंक से नकदी निकालने पर भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लगाई गई रोक हटाने की मांग कर रहे खाताधारकों की याचिका पर सुनवाई करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षतावाली पीठ ने कहा, 'हम अनुच्छेद 32 (रिट अधिकार क्षेत्र) के तहत इस याचिका की सुनवाई नहीं करना चाहते। याचिकाकर्ता उचित राहत के लिए संबंधित हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं।'

आरबीआई की ओर से लगाई रोक को हटाने का अनुरोध

याचिकाकर्ता बेजोन कुमार मिश्रा की ओर से पेश हुए वकील शशांक सुधी ने कहा कि उन्होंने पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक (पीएमसी) के 500 खाताधारकों की ओर से याचिका दायर की है जिसमें नकदी निकालने पर आरबीआई की ओर से लगाई रोक को हटाने का अनुरोध किया गया है। याचिका में केंद्र सरकार से बैंक खाताधारकों की मेहनत की कमाई की रक्षा करने का निर्देश देने की भी अपील की गई थी।

क्या है मामला

बता दें कि 4355 करोड़ रुपये के पीएमसी घोटाले के प्रकाश में आने के बाद रिजर्व बैंक ने बैंक से एक सीमा से अधिक नक द निकासी पर रोक लगा दी है। खाताधारक छह माह की अवधि में बैंक से 40 हजार रुपये तक निकाल सकते हैं।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप