Move to Jagran APP

Modi Austria Visit: 41 साल बाद भारतीय पीएम का ऑस्ट्रिया दौरा कितना अहम; कैसे नेहरू-इंदिरा की बराबरी पर पहुंचे मोदी?

PM Modi Austria Visit प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार शाम ऑस्ट्रिया के दौरे पर पहुंचे। 41 साल बाद कोई भारतीय पीएम ऑस्ट्रिया के दौरे पर पहुंचे हैं। मोदी से पहले 1983 में भारतीय पीएम के तौर पर इंदिरा गांधी ने ऑस्ट्रिया का दौरा किया था। खास बात यह है कि पीएम मोदी ऐसे समय में वहां हैं जब भारत और ऑस्ट्रिया अपने राजनयिक संबंधों की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं।

By Jagran News Edited By: Deepti Mishra Wed, 10 Jul 2024 07:11 PM (IST)
PM Modi Austria Visit: ऑस्ट्रिया की ऐतिहासिक यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रियाई चांसलर कार्ल नेहमर। फोटो- एजेंसी

 डिजिटल डेस्‍क, नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस दौरे के बाद बुधवार को ऑस्ट्रिया की ऐतिहासिक यात्रा पर पहुंचे। कई मायनों में पीएम मोदी का यह दौरा बेहद अहम है। 41 साल बाद कोई भारतीय पीएम ऑस्ट्रिया के दौरे पर पहुंचे हैं। ऑस्ट्रिया पहुंचते ही पीएम मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की बराबरी में आ गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पहले 1983 में भारतीय पीएम के तौर पर इंदिरा गांधी ने ऑस्ट्रिया का दौरा किया था। खास बात यह है कि पीएम मोदी ऐसे समय में वियना में हैं, जब भारत और ऑस्ट्रिया अपने राजनयिक संबंधों की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं।

पीएम बोले- यह ऐतिहासिक भी है और विशेष भी

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में पीएम मोदी का गर्मजोशी से स्वागत हुआ। इसके बाद पीएम मोदी ने आभार प्रकट करते हुए कहा, ''मुझे खुशी है कि मेरे तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही मुझे ऑस्ट्रिया आने का अवसर मिला। मेरा यहां आना ऐतिहासिक भी है और विशेष भी। 41 साल बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रिया का दौरान किया है। इसे एक सुखद संयोग ही कहा जाएगा कि यह यात्रा ऐसे समय पर हो रही है, जब हमारे आपसी संबंधों के 75 साल पूरे हुए हैं।''

ऑस्ट्रिया जाने वाला पहला भारतीय पीएम कौन?

ऑस्ट्रिया का दौरा करने वाले पहले प्रधानमंत्री का जिक्र किया जाए तो नेहरू का नाम ही सबसे पहले आता है। दरअसल, 1949 में राजनयिक संबंध स्थापित होने के बाद प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 1955 में ऑस्ट्रिया का दौरा किया था।

मोदी से पहले प्रधानमंत्री के तौर पर कौन गया था ऑस्ट्रिया?

जवाहर लाल नेहरू के बाद और नरेंद्र मोदी से पहले इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री रहते हुए 1971 में ऑस्ट्रिया की यात्रा की थी। इसके नौ साल बाद 1980 में तत्कालीन ऑस्ट्रियाई चांसलर ब्रूनो क्रेस्की ने भारत की यात्रा की थी। इसके बाद 1983 में इंदिरा गांधी ने फिर से ऑस्ट्रिया का दौरा किया, जिसे फॉलो करते हुए 1984 में ऑस्ट्रिया के तत्कालीन चांसलर फ्रेड सिनोवात्ज फिर भारत की यात्रा पर आए थे।  

यह भी पढ़ें -मोदी-पुतिन की दोस्ती पर यूक्रेन ने निकाली भड़ास तो रूस ने किया पलटवार, कहा- जेलेंस्की युद्ध के नेता

इंदिरा गांधी के 1983 में हुए ऑस्ट्रिया दौरे के बाद नरेंद्र मोदी के पहुंचने तक कोई प्रधानमंत्री वियना नहीं गया।  भारत की तरफ से प्रधानमंत्री स्तर पर यह तीसरा दौरा है। हालांकि, इसे चौथा दौरान भी कहा जा सकता है, क्‍योंकि इंदिरा गांधी दो बार ऑस्ट्रिया के दौरे पर गईं थीं। बता दें कि भारत और ऑस्ट्रिया के बीच राष्ट्रपति, मंत्री, सांसद और नेताओं के स्‍तर पर लगातार यात्राएं होती रही हैं।

यह भी पढ़ें -'41 साल बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रिया का दौरा किया, ये मेरा सौभाग्य', वियना में बोले पीएम मोदी

ऑस्ट्रिया भारत से क्या-क्या मंगाता है?

ऑस्ट्रिया भारत से इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिकल उपकरण, मशीनरी, परमाणु रिएक्टर, बॉयलर, रेलवे, वाहन, फुटवियर और इससे जुड़े अन्य सामान, बिना सिले कपड़े, सिले हुए कपड़े, ऑर्गेनिक केमिकल, आयरन और स्टील, कांच और कांच के बने सामान, कालीन, कपास, नमक, सल्फर, मिट्टी, पत्थर, प्लास्टर, चूना, सीमेंट, तांबा, विमान, अंतरिक्ष यान, चिकित्सा उपकरण, खाने योग्य फल, मेवे, खट्टे फल के छिलके और खरबूजे का आयात करता है।

यह भी पढ़ें -'भारत और मॉस्को का रुख एक समान', रूसी सेना में धोखे से भर्ती किए गए भारतीयों पर आया ये जवाब