अहमदाबाद, जासं/एएनआइ। सूरत के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में लगी आग के बाद वहां से गुजरने वाले कुछ लोग वहां रुककर फोटो खींच रहे थे, तो कुछ लोग वीडियो बना रहे थे। लेकिन किसी ने भी आग में फंसे छात्रों को बचाने की पहल नहीं की। इन्हीं लोगों के बीच एक स्थानीय युवक केतन पटेल ने अपनी जान जोखिम में डालकर इमारत में फंसे छात्रों की जान बचाने का फैसला किया।

आग लगने के करीब 40-45 मिनट बाद फायर ब्रिगेड की गाडि़यां मौके पर पहुंचीं। इस बीच, केतन पटेल पानी के पाइप के सहारे चढ़कर इमारत की दूसरी मंजिल पर पहुंच गए। उन्होंने बताया, 'वहां हर तरफ धुआं था। मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि क्या करूं। तभी आग से बचकर निकलने की कोशिश में करीब 13 साल की एक लड़की फर्श पर गिर गई। उसे देखकर मुझे काफी दु:ख हुआ।' केतन के लिए यही प्रेरित करने वाला क्षण था। उन्होंने कहा, 'मैंने एक सीढ़ी ली। मैंने सबसे पहले छात्रों को बाहर आने में मदद की और इमारत के पिछले हिस्से से आठ-दस छात्रों को बचाने में सफल रहा। बाद में मैंने दो और छात्रों को बचा लिया। जितने छात्रों को मैं बचा सकता था, मैंने बचाया।'

केतन अब स्थानीय हीरो बन चुके हैं और सोशल मीडिया पर भी लोग उनके साहसिक काम की जमकर सराहना कर रहे हैं। इसके बावजूद केतन को इस बात का मलाल है कि इस हादसे में जिन छात्रों की जान चली गई, उन्हें वह नहीं बचा सके। हादसे में मारे गए सभी छात्र 14 से 17 साल के बीच की उम्र के हैं। इनमें से कुछ का शनिवार को 12वीं की परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ है और वे उनमें उत्तीर्ण भी हो गए।

फायर ब्रिगेड के देर से पहुंचने पर नाराजगी
स्थानीय लोगों ने फायर ब्रिगेड के देर से पहुंचने पर नाराजगी जताई। इसके अलावा उनके पास चौथी मंजिल तक पहुंच सकने वाली सीढ़ी, कूदने वाले छात्रों को बचाने के लिए जाली और अन्य सुरक्षा-बचाव उपकरण नहीं होने पर भी लोगों ने उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई। सोशल मीडिया पर भी इस घटना को लेकर गुजरात सरकार, फायर ब्रिगेड और पुलिस की कार्यशैली की निंदा की जा रही है। घटना के बाद हालात का जायजा लेने पहुंचे उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को भी लोगों की नाराजगी का शिकार होना पड़ा। हादसे के वक्त इमारत में करीब 50 छात्र-छात्राएं थे।

दो छात्र वेंटीलेटर पर
इस हादसे में घायल हुए दो छात्र वेंटीलेटर पर हैं जबकि पांच अन्य को आइसीयू में रखा गया है। चार अन्य घायल छात्रों की हालत स्थिर बताई जा रही है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप