नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने घाटी में पीडीपी-भाजपा सरकार को बदतर बताया है। उमर ने टि्वटर पर लिखा कि मोदी-मुफ्ती समझौता स्थितियां बेहतर करने के लिए हुआ, लेकिन इस बदलाव से स्थितियां खराब हो गईं, इसमें कोई शक नहीं है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्तारुढ़ पीडीपी के चुनावी घोषणा पत्र और इस क्षेत्रीय पार्टी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बीच विसंगतियां हैं।

उन्होंने मसर्रत की रिहाई पर भी पीडीपी-भाजपा सरकार को घेरा। उन्होंने मसर्रत को राजनीतिक बंदी बताते हुए उसकी रिहाई पर सवाल खड़े किए।

Edited By: Gunateet Ojha