नई दिल्ली [जाब्यू]। नियंत्रण रेखा पर पांच भारतीय सैनिकों की हत्या और लगातार हो रहे संघर्षविराम उल्लंघन के बीच कमजोरी दिखाने के आरोपों से घिरी सरकार ने पाक के साथ व्यवहार में तेवर व सुर बदलने के संकेत दे दिए हैं। नियंत्रण रेखा पर किसी भी घुसपैठ या आक्रामक करतूत के प्रभावी पलटवार का वादा करते हुए रक्षा मंत्री एके एंटनी ने कहा कि भारत के संयम को कमजोरी न समझे पाक। भारतीय सेना अपनी हर इंच जमीन की हिफाजत और नियंत्रण रेखा की मर्यादा बनाए रखने के लिए हर संभव कार्रवाई करेगी।

एंटनी के मुताबिक पूरी सरकार यह मानती है कि हालिया घटनाओं के मद्देनजर नियंत्रण रेखा पर भारत के बर्ताव में बदलाव के साथ ही पाक के साथ संबंध प्रभावित होना लाजमी है। अगले माह संयुक्त राष्ट्र महासभा के हाशिये पर भारत और पाक के प्रधानमंत्रियों की प्रस्तावित मुलाकात को लेकर अतिरिक्त नरमी दिखाने को लेकर विपक्ष लगातार सरकार को कठघरे में खड़ा कर रहा है। राज्यसभा में नेता विपक्ष अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि पड़ोसियों से संपर्क व सद्भाव अच्छी बात है, लेकिन इसके लिए माहौल भी होना चाहिए। सरकार एक ओर मानती है कि पाक ने मुंबई आतंकी हमले पर अपेक्षित कार्रवाई नहीं की। अब्दुल करीम टुंडा की गिरफ्तारी की तरफ इशारा करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सीमा पार से भारत में आतंकवाद प्रायोजित करने के सबूत सामने आ रहे हैं और सरकार शिखर वार्ता के लिए कदम बढ़ा रही है।

हालांकि, जवाब में रक्षा मंत्री ने सदन में 8 अगस्त को रखे बयान का हवाला देते हुए कहा कि सीमा पर हो रही घटनाओं के चलते नियंत्रण रेखा पर भारत का व्यवहार और पाक के साथ संबंधों का प्रभावित होना लाजिमी है। एंटनी का कहना था कि पांच भारतीय जवानों की हत्या को लेकर देश में मौजूद गुस्से पर सरकार सदन और लोगों की भावना समझती है। भारतीय सेनाएं सीमाओं की हिफाजत में सक्षम हैं और पाक को नियंत्रण रेखा पर माकूल जवाब दिया जाएगा। पाकिस्तान इस साल 80 से अधिक बार संघर्षविराम उल्लंघन कर चुका है। पुंछ सेक्टर में 5 व 6 अगस्त की मध्यरात्रि भारतीय चौकी पर पाकिस्तानी हमले में पांच भारतीय सैनिकों की मौत पर बयान बदलने को लेकर स्पष्टीकरण दे रहे रक्षा मंत्री ने कहा कि नए तथ्य हासिल करने के बाद उन्होंने सदन को उसकी जानकारी दी।

महत्वपूर्ण है कि रक्षा मंत्री ने मामले पर 6 अगस्त को दिए बयान में रात के अंधेरे में घात लगाकर किए गए हमले के लिए आतंकवादियों और पाक सेना की वर्दी पहले लोगों को जिम्मेदार ठहराया था। पाक सेना को क्लीनचिट दिए जाने को लेकर निशाने पर आए एंटनी ने 8 अगस्त को नया बयान दिया जिसमें घटना के लिए पाक सेना के विशेष दस्तों को जिम्मेदार ठहराया गया। रक्षा मंत्री ने घटना के बाद जम्मू-कश्मीर का दौरा कर लौटे सेनाध्यक्ष जनरल बिक्रम सिंह से मिली जानकारियों का हवाला देते हुए नया बयान दिया था।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस