नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्य परिषद की बैठक खत्म हो गई है। बैठक में हाईवोल्टेज ड्रामा देखने को मिला। इन सब के बीच विरोधी दल भी 'आप' की लड़ाई पर नजर बनाए हुए हैं। जिनका वजूद आम आदमी पार्टी की वजह से खत्म होता जा रहा है। आप के इस अंतर्कलह पर निशाना साधने में विपक्ष पीछे नहीं है।

मामले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस नेता पीसी चाको ने कहा है कि आम आदमी पार्टी विभाजन की ओर बढ़ रही है। उन्होंने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी लोगों को दिखाने की कोशिश कर रही है कि वो सभी पार्टियों से अलग है, लेकिन लोग जानते हैं कि वो ऐसी पार्टी है जो सिर्फ सत्ता की भूखी है।

आप की तू-तू मैं-मैं पर कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि आपके आसपास जो भ्रष्टाचार हो रहा है उसे आप अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लें, लेकिन अब राष्ट्रीय कार्य परिषद की बैठक में मोबाइल ले जाने पर ही पाबंदी लगी दी है।

यह भी पढ़ें- अपने विधायकों को लेकर नई पार्टी बनाना चाहते थे केजरीवाल

तो वहीं भाजपा के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेेदी ने आम आदमी पार्टी की लड़ाई पर चुटकी लेते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल हमेशा यही गाना गाते रहे हैं 'इंसान का इंसान से हो भाईचारा' तो अब ये भाईचारा खुलकर सामने आ रहा है।

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि आम आदमी पार्टी को आंतरिक रूप से इन बातों को करना चाहिए और दिल्ली की जनता को बताना चाहिए कि यह हमारा विषय है।

आम आदमी पार्टी की इस लड़ाई से पार्टी तार-तार होती जा रही है। तो वहीं विपक्षी पार्टियां इनके सदस्यों को अपनी ओर खींचने में लगी हैं और पूरे विवाद पर नजर बनाए हुए हैं।

आपको बता दें कि योगेंद्र यादव कार्यक्रम स्थल के बाहर धरने पर बैठ गए थे क्योंकि उनके साथ कुछ सदस्यों को बैठक में शामिल नहीं होने दिया गया। यही नहीं योगेंद्र यादव के वहां पहुंचने के बाद उनके साथ धक्का-मुक्की, नारेबाजी की गई यही नहीं उन्हें अपशब्द तक बोले गए। इसके बाद बैठक में अंदर पहुंचने के बाद बाउंसरों द्वारा उनसे मारपीट भी की गई।

यह भी पढ़ें- 'आप' के लिए आज अहम दिन, प्रशांत-योगेंद्र हो सकते हैं पार्टी से बाहर

Posted By: Abhishek Pratap Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस